उत्तराखंड- इस टीम ने पहाड़ के नरेश का सपना किया पूरा, dream11 में जीता 18 लाख

खबर शेयर करें -

चंपावत- वर्तमान में उत्तराखंड के कई युवा आईपीएल मैचों में ड्रीम 11 के माध्यम से लाखों करोड़ों जीतने के सपने को साकार कर चुके है। लाखो रुपए जीतने के सपने को चंपावत निवासी युवा नरेश भट्ट ने साकार किया है।नरेश भट्ट ने ड्रीम 11 में टीम बना 18 लाख की धनराशि राशि जीती है। इस ईनामी राशि से अब नरेश अपने आशियाने को बनाना चाहता है।

बता दें कि चम्पावत जिले के अमोड़ी डिग्री कॉलेज में बीए प्रथम वर्ष के एक छात्र ने आईपीएल में रविवार को हुए हैदराबाद और पंजाब के मैच में लाखों रुपये जीते हैं । आईपीएल-15 में उसने अपने क्रिकेट के ज्ञान का इस्तेमाल किया और 18 लाख रुपए जीत लिए। कोट अमोड़ी गांव के नरेश चंद्र भट्ट ने रविवार को ड्रीम-11 में 33 रुपये दांव पर लगा अपनी टीम बनाई थी। इसमें उनकी बनाई टीम ने बेहतरीन प्रदर्शन किया। इसमें वह पहले स्थान पर रहे।

नरेश के घर की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। नरेश सेना भर्ती की भी तैयारी कर रहे हैं। उन्होंने इस सीजन मेें आईपीएल में पहली बार टीम बनाई थी। इस तरह 18 लाख रुपये जीतने पर रविवार का दिन उनके लिए लाभदायक साबित हुआ।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- यहां नप गए दरोगा जी, एसएसपी ने किया सस्पेंड
यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड-(बड़ी खबर) प्रेम प्रसंग में बाधा बना पति, पत्नी ने आशिक संग पति को मरवाया

ड्रीम-11 में 18 लाख रुपये जीतने वाले नरेश भट्ट के लिए रविवार का दिन किसी सपने से कम नहीं रहा। नरेश के पिता मजदूरी करते आ रहे हैं। इससे उनके माता-पिता समेत दो भाई भी खुश हैं। नरेश ने बताया कि वह इस रुपये से अपने परिवार की आर्थिक स्थिति सुधारने का प्रयास करेंगे। धन की कमी के कारण उनका मकान अधूरा रह गया है। सबसे पहले वह मकान बनाने का कार्य पूरा करेंगे। ड्रीम-11 में 18 लाख जीतने पर नरेश को शुभकामनाएं मिल रही है। साथ ही उसका परिवार भी बेहद खुश है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंडः छात्रा को इंस्टाग्राम पर किशोर से दोस्ती पड़ी महंगी, छात्रा से 6 लाख रूपये लेकर की मौज, खरीदी बाइक और मोबाइल

About Post Author

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

WP Post Author

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments