online shoping

उत्तराखंडः भारी डिस्कांउट पर ऑनलाइन ऑर्डर किये जूते, पार्सल खोला तो निकले लकड़ी के गुटके

खबर शेयर करें -

Roorki News: अगर आप भी ऑनलाइन शाॅपिंग करते है तो यह खबर आपके लिए है। इन दिनों कई ऑनलाइन कंपनियों के ऑफर शुरू हुए है जिसमें दीवाली के डिस्काउंट ऑफर की बात की जा रही है। अगर आप भी किसी भी साइट से शापिंग कर रहे है तो जरा संभल कर करे। मामला उत्तराखंड के रूड़की से है जहां सोशल मीडिया पर भारी छूट का झांसा देकर कक्षा 10 के छात्र के साथ ब्रांडेड कंपनी के जूतों के नाम पर ठगी हो गई है। पार्सल में आए डिब्बे में जूतों की जगह लकड़ी के दो गुटके निकले हैं।

खबर के अनुसार रुड़की क्षेत्र के सोलानीपुरम निवासी एवं एक निजी कंपनी के सुपरवाइजर रितेश कुमार ने बताया कि उनका बेटा कक्षा 10 का छात्र है। उसने सोशल मीडिया पर एक ब्रांडेड कंपनी के जूतों की सेल का विज्ञापन देखा था। जिसमें उसे एक जूता पसंद आ गया। उस जूते पर 80 प्रतिशत की छूट थी। उसने जूते आर्डर कर दियं। भुगतान भी ऑनलाइन ही कर दिया।

मंगलवार को करीब 10 दिन बाद उनके घर पार्सल पहुंचा। खुशी-खुशी उसने पार्सल खोला तो बेटे के होश उड़ गये। पार्सल में जूतों के बदले लकड़ी के दो गुटके थे। जिन पर पुराना कपड़ा लिपटा हुआ था। हालांकि डिब्बे के वजन को लेकर लग रहा था कि उसमें जूते ही हैं।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड-(शर्मनाक) देवभूमि शर्मसार मानसिक रूप से बीमार युवती को बनाया दरिंदगी का शिकार
यह भी पढ़ें 👉  देहरादून-(बड़ी खबर) शिक्षा महकमे में इन 16 अधिकारियों का प्रमोशन

इसके बाद उनके बेटे ने कोरियर कंपनी के कर्मचारी से शिकायत की गई। लेकिन उन्होंने बताया कि पार्सल के भीतर क्या सामान है। इसकी जानकारी उन्हें नहीं होती है। कोतवाली रुड़की प्रभारी निरीक्षक देवेंद्र सिंह चैहान ने बताया कि ऑनलाइन खरीदारी या फिर भुगतान आदि करते समय विशेष सावधानी बरतें। अच्छी कंपनी से ही आनलाइन खरीदारी करें। डिस्काउंट के झांसे में न आये। झांसा देकर ही साइबर ठग ठगी कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- (दुःखद) बारात की कार गिरी खाई में, मची चीख पुकार, 4 की मौत 2 घायल

About Post Author

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

WP Post Author

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments