नैनीताल- इंजीनियरिंग छोड़ पहाड़ के इस युवा ने की ‘कसार द पहाड़ी’ स्टोर की शुरुआत, यहां मिलेंगे सारे पहाड़ी प्रोडक्ट

खबर शेयर करें -

भुजियाघाट- आज हम आपको मिलाएंगे पहाड़ के कल्चर के प्रति सजग और उसमें स्वरोजगार ढूंढ कर नया स्टार्टअप शुरू करने वाले एक इंजीनियर युवा से, जो अपने पहाड़ और अपने लिए काम करने के मकसद में एक शख्स इतना खो गया कि उन्होंने मेट्रो सिटी दिल्ली की जिंदगी को बाय-बाय कर पहाड़ों की जिंदगी को चुना। हल्द्वानी के रहने वाले प्रमोद तड़ागी की पहाड़ी होने और पहाड़ की दुकान खोलने की कहानी बेहद दिलचस्प है। उन्होंने नैनीताल हाईवे, जिसे सभी लोग भुजियाघाट के नाम से जानते हैं… वहां पर कसार पहाड़ की दुकान शुरू की है। मकसद उत्तराखंड में रहना और अपने लोगों के काम को महानगरों तक पहुंचाना। पेशे से इंजीनियर प्रमोद तड़ागी को खुद नहीं पता था कि उनके जीवन का दूसरा अध्याय पहाड़ से शुरू होगा। वह जानते हैं कि नए काम में मुश्किले आने वाली हैं और वह इसके लिए तैयार भी हैं।

मूल रूप में अल्मोड़ा के रहने वाले प्रमोद तड़ागी का परिवार अब हल्द्वानी रहता है। उन्होंने आम्रपाली कॉलेज हल्द्वानी से MCA किया और उनकी महानगर की जिंदगी शुरू हो गई। प्रमोद ने बताया कि सब अच्छा चल रहा था लेकिन मन में अपना कुछ काम करने की सोच थी। वह चाहते थे कि पहाड़ों में रहकर कुछ ऐसा करें, जिससे वह अधिक से अधिक लोगों से मिले और उत्तराखंड के बारे में बताए। लॉकडाउन ने उनके मन की इच्छा को बल दिया और फिर उन्होंने रिसर्च शुरू की। उन्होंने फैसला किया कि वह एक पहाड़ी स्टोर खोलेंगे, जहां लोगों को घर सजाने के सामान से लेकर पहाड़ी उत्पाद मिलेंगे।

प्रमोद ने सोशल मीडिया के माध्यम से तमाम एनजीओ और स्वरोजगार से जुड़े लोगों को संपर्क किया। सभी कुछ प्लान के अनुरूप चल रहा था तो उन्होंने नैनीताल हाईवे पर एक दुकान का चयन किया और कसार पहाड़ी स्टोर खोल दिया। उन्होंने कसार देवी के नाम पर ‘कसार द पहाड़ी’ स्टोर खोला है। उनकी दुकान में छोटे बच्चों से लेकर महिलाओं व बुजुर्गो को पसंद आने वाली सामाग्री रखीं हैं।

“कसार द पहाड़ी” स्टोर में ऐपण, जुन्याली, बद्रीनाथ मंदिर ,केदारनाथ मंदिर , टी शर्ट ,पहाड़ी कप , आरती ऐपण, जूस जैम , रिंगाल लैंप , पहाड़ी टोपी व सहित 30 से ज्यादा प्रोडक्ट मौजूद है। उन्होंने कहा कि यह सारे उत्पाद उत्तराखंड में ही बनाए गए हैं। वह एक छत के नीचे सभी पहाड़ी उत्पादों को रखना चाहते हैं ताकि पर्यटकों को पूर्ण जानकारी भी दे पाए। उन्होंने कहा कि मुझे पता है कि भविष्य में मुश्किले आएंगी लेकिन वह इसके लिए तैयार हैं। उन्हें खुशी है कि अगर उत्तराखंड स्वरोजगार हब के रूप में विकसित होगा तो उनकी भागेदारी भी उसका हिस्सा होगी। प्रमोदी तड़ागी नेे ऑनलाइन ऑर्डर व संपर्क के लिए +91 98717 54758 जारी किया है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड-(बड़ी खबर) अंकिता हत्याकांड मामला, परिजनों ने रोका अंतिम संस्कार
यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- (बड़ी खबर) भारी बारिश के चलते इस जिले में स्कूल बंद

About Post Author

Ad
Ad
अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

WP Post Author

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments