Shemford School Haldwani
जौ, मडुआ और गहत

नई दिल्ली- जब उत्तराखंड के जौ, मडुआ और गहत को लेकर सदन में उठा सवाल तो क्या बोलो कृषि मंत्री जानिए..

Bansal Sarees & Bansal Jewellers Ad
खबर शेयर करें

नई दिल्ली- उत्तराखंड में पारंपरिक खेती को लेकर नैनीताल उधम सिंह नगर संसदीय क्षेत्र के सांसद अजय भट्ट ने लोकसभा सदन में पहाड़ के पारंपरिक फसलों के बीज के रखरखाव के लिए केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री से सवाल उठाया। सांसद अजय भट्ट ने पहली बार सदन में पहाड़ के मडवा, गहत, सहित अन्य पारंपरिक खेती का जिक्र करते हुए केंद्र सरकार से सवाल पूछा कि आखिर उनके रखरखाव के लिए क्या किया जा रहा है।

यह भी पढ़े 👉देहरादून-(बड़ी खबर) कुंभ में कोरोना की रिपोर्ट को लेकर बड़ा अपडेट, अब ऐसे आना होगा

Kisaan Bhog Ata

सांसद अजय भट्ट ने सदन में कृषि मंत्री से सवाल पूछा कि मैं जानना चाहता हूं कि उत्तराखंड समेत सभी पर्वतीय राज्यों के परंपरागत खेती लंबे समय से वहां के लोग करते आ रहे हैं और जिसमें जौ, मडुवा, घीनोरा, राई, गहत और साथ में ब्रह्म कमल, अश्वगंधा, जटामांसी, काली हल्दी है कीड़ा जड़ी, तुलसी समेत कई मेडिसिनल प्लांट होते है। सरकार उत्तराखंड समेत अन्य पर्वतीय क्षेत्रों की जलवायु को मध्य नजर रखते हुए वहां की परंपरागत खेती को देखते हुए उन्नत किस्म के बीज बनाने हेतु कोई विचार सरकार ने किया है?

यह भी पढ़ें 👉  Good News- पांच महीने और मुफ्त खाद्यान देने को मिली मंजूरी, इन लोगो को होगा फायदा

यह भी पढ़े 👉चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में उत्तराखंड के छात्र कर रहे कमाल, हरिद्वार के आशीष और बागेश्वर की प्रियंका ने रचा इतिहास

जिस पर केंद्रीय राज्य मंत्री पुरुषोत्तम रुपाला ने जवाब देते हुए कहा कि केंद्र सरकार द्वारा पौधा किश्म और कृषक अधिकार संरक्षण प्राधिकरण 1806 किस्म के स्वदेशी व स्थानीय फसलों का रजिस्ट्रेशन करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है साथ ही केंद्र सरकार ने देश के किसी भी कोने में कोई भी किसान अपने द्वारा उन्नत की हुई बीज को संरक्षित करना चाहता है तो प्राधिकरण के तहत उसे यह सुविधा दी गई है।

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून- हाई स्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा को लेकर एक और नई अपडेट

यह भी पढ़े 👉नैनीताल- हरियाणा से घूमने आए थे बुजुर्ग, ऐसे हो गयी मौत

इसके बाद सांसद अजय भट्ट ने जैविक खेती को लेकर केंद्रीय मंत्री से प्रश्न किया कि क्या देश के विभिन्न विभागों में जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए जो केंद्र खोले गए हैं क्या उत्तराखंड में भी जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए केंद्र सरकार इसी तरह का जैविक खेती केंद्र खोलने पर विचार कर रही है? जिस पर केंद्रीय राज्य मंत्री द्वारा जवाब देते हुए बताया गया कि उत्तराखंड सहित अन्य पर्वतीय क्षेत्र जहां जैविक खेती होती है उसके लिए केंद्र सरकार राज्य सरकार के साथ मिलकर केंद्रीय योजनाओं मैं जैविक खेती को ज्यादा से ज्यादा करने के लिए किसानों को प्रोत्साहित करने का प्रोग्राम बनाएगी। गौरतलब है कि सांसद अजय भट्ट लगातार उत्तराखंड की आवाज बनकर सदन में राज्य की प्रबल समस्याओं को उठाते आ रहे हैं इसी के तहत पहाड़ी उत्पादों के बढ़ावा और उन्हें पहचान दिलाने के लिए सदन में आज उनके द्वारा सवाल उठाया गया।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- सुशीला तिवारी में मरीजों के मोबाइल चुराती थी सफाई कर्मी, ऐसे खुला राज

यह भी पढ़े 👉उत्तराखंड- यहां महिला भी करने लगी ये गन्दा धंधा, 50 लाख के माल के साथ गिरप्तार

यह भी पढ़े 👉हल्द्वानी- (गजब) यहां कारीगर ही सुनार को लगा गए 11 लाख का चूना, लेकर भागे इतना सोना

अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments