Ad

हल्द्वानी-(दुःखद) अशोक चक्र सम्मानित शहीद मोहन नाथ गोस्वामी की मां का निधन, क्षेत्र में शोक की लहर

खबर शेयर करें

लालकुआं– शांति काल के सर्वोच्च सम्मान अशोक चक्र से सम्मानित शहीद लांस नायक मोहन नाथ गोस्वामी की मां राधिका देवी का निधन हो गया। जिनका अंतिम संस्कार मंगलवार की दोपहर बाद उनके आवास पर ही किया गया। निधन का समाचार मिलते ही क्षेत्र के तमाम गणमान्य लोगों, ग्रामीणों एवं पूर्व सैनिक संगठन के पदाधिकारियों ने गहरा शोक जताया है।

इंदिरा नगर प्रथम निवासी शहीद मोहन नाथ गोस्वामी की 63 वर्षीय मां राधिका देवी कि पिछले कुछ दिनों से तबीयत खराब चल रही थी जिन्हें गत दिवस भोजीपुरा के राममूर्ति अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उपचार के दौरान आज तड़के उनका निधन हो गया। उनके निधन से जहां परिवार में कोहराम मच गया वही क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ पड़ी।

मंगलवार की दोपहर को उनके निवास स्थान पर ही समाधि स्थापित कर उनका अंतिम संस्कार किया गया इस मौके पर उनके जेष्ठ पुत्र शंभू नाथ गोस्वामी शहीद मोहन नाथ गोस्वामी की पत्नी भावना गोस्वामी, विधायक नवीन दुम्का, पूर्व कैबिनेट मंत्री हरीश चंद्र दुर्गापाल, पूर्व दर्जा राज्यमंत्री हेमंत द्विवेदी, जिला पंचायत सदस्य डॉ मोहन बिष्ट कांग्रेसी नेता हरेंद्र बोरा, प्रमोद कॉलोनी, चेयरमैन लाल चंद्र सिंह, पूर्व चेयरमैन रामबाबू मिश्रा, पवन कुमार चौहान, राजेंद्र सिंह खनवाल, चंद्र सिंह दानू, भाजपा के बिन्दुखत्ता मंडल अध्यक्ष दीपक जोशी, दीवान सिंह बिष्ट, भुवन पांडे, जीवन कबडवाल, रमेश कुनियाल, रोशन सिंह मेहरा, पूर्व सैनिक संगठन के अध्यक्ष खिलाफ सिंह दानू, संरक्षक दलवीर सिंह कफोला, एक्स कैप्टन इंदर सिंह पनेरी, कैप्टन धर्म सिंह रमोला, सूबेदार चंद्रशेखर उपाध्याय, प्रकाश मिश्रा, गोविंद फुलारा, हरीश रजवार, गोपाल नेगी, रमेश जोशी, दीपक नेगी, वीरेंद्र सिंह जीना, कुंदन मेहता, हरीश जोशी, समेत सैकड़ों ग्रामीणों ने अशोक चक्र से सम्मानित शहीद मोहन नाथ गोस्वामी की मां राधिका देवी की समाधि में पहुंच कर श्रद्धांजलि अर्पित की।

इधर पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने शहीद की मां राधिका देवी के निधन पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की है। आपको बता दें कि जम्मू कश्मीर के हंदवाड़ा में 3 स्पेशल ऑपरेशन में 11 आतंकवादियों को ढेर करने वाले लांस नायक मोहन नाथ गोस्वामी आतंकियों से लोहा लेते हुए 3 सितंबर 2015 को शहीद हो गए। उनकी वीरता और अदम्य साहस को देखते हुए उन्हें 26 जनवरी 2016 को शांति काल के सर्वोच्च वीरता पुरस्कार अशोक चक्र से सम्मानित किया गया यह सम्मान शहीद मोहन नाथ गोस्वामी की पत्नी भावना गोस्वामी को राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने दिया।

Ad
यह भी पढ़ें 👉  देहरादून-(Job Alert)- एएनएम के 846 पदों पर इस प्रकार होगी भर्ती, अपडेट
अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments