Ad

उत्तराखंड: नैनीताल और चमोली की इस तहसील के नाम परिवर्तन करने को भारत सरकार की मंजूरी

KhabarPahad-App
खबर शेयर करें -
  • नैनीताल जिले की कोश्याकुटोली तहसील व चमोली जनपद के जोशीमठ के नाम परिवर्तन करने के प्रस्ताव को भारत सरकार ने दी मंजूरी।

उत्तराखंड- भारत सरकार द्वारा जनपद नैनीताल के तहसील कोश्याकुटोली का नाम परिवर्तन कर परगना श्री कैंची धाम के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी गई है। क्षेत्रीय जनता और बाबा नीब करौरी महाराज के भक्तों ने सरकार के फैसले का जोरदार स्वागत करते हुए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी का आभार प्रकट किया है। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बीते वर्ष कैंची धाम मंदिर के स्थापना दिवस (15 जून) समारोह के मौके पर कोश्याकुटोली तहसील को कैंची धाम के नाम पर करने की घोषणा की थी। उत्तराखंड सरकार की ओर से भेजे गए तहसील नाम परिवर्तन के इस प्रस्ताव को भारत सरकार से मंजूरी मिल गई है। कैंची धाम में श्रद्धालुओं की बढ़ती संख्या को देखते हुए उत्तराखण्ड सरकार यहां सभी जरूरी सुविधाएं उपलब्ध कराने की दिशा में लगातार काम कर रही है। धाम के चतुर्दिक विकास के लिए कैंची धाम को मानसखण्ड मन्दिरमाला मिशन में भी शामिल किया गया है।

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून :(Good News) इलाज सस्ता, एक पर्ची एक रेट, जनता को राहत
यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: यहां कलयुगी बेटे ने चाकू से गोदकर कर दी मां की हत्या, हत्यारा बेटा फरार

➡️जोशीमठ का नाम बदलकर ज्योतिर्मठ करने की भारत सरकार ने दी मंजूरी⤵️

वहीं दूसरी ओर मुख्यमंत्री धामी ने विगत वर्ष जोशीमठ का नाम बदलकर ज्योतिर्मठ करने की घोषणा की थी। मुख्यमंत्री की घोषणा के अनुरूप प्रस्ताव बनाकर भारत सरकार को भेज दिया गया था। अब केंद्र ने ज्योतिर्मठ तहसील के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है, स्थानीय जनता ने इस फैसले का स्वागत किया है। कुछ वर्षों से लगातार स्थानीय लोगों द्वारा जोशीमठ का नाम बदलने की मांग प्रमुखता से उठाई जा रही थी, लेकिन इस पर अमल नहीं हो सका। मुख्यमंत्री धामी ने जनभावनाओं का सम्मान करते हुए जोशीमठ तहसील को ज्योतिर्मठ नाम देने का फैसला किया था।

Ad
अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

Subscribe
Notify of

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments