Ad

उत्तराखंड: यहां 10 हजार में होती थी एक रात की बुकिंग, रुद्रपुर से नैनीताल तक ऐसे फैला था देह व्यापार का जाल…

Ad - Bansal Jewellers
खबर शेयर करें

RUDRAPUR NEWS-विगत कुछ वर्षों से देवभूमि में देह व्यापार का धंधा लगातार फलता-फूलता जा रहा है। खास बड़े शहरों में देह व्यापार को बढ़ावा मिल रहा है। इन बड़े शहरों में नैनीताल, ऊधमसिंह नगर, देहरादून और हरिद्वार जिला शामिल है। जहां विगत सालों में सबसे अधिक देह व्यापार के मामले सामने आये है। वहीं देह व्यापार का एक नया जरिया स्पा सेंटर बने है जो शहरों में लगातार चंद कदमों की दूरी पर खुले है। स्पा की आड़ में ग्राहकों को लड़कियां परोसी जा रही है। हाल ही के दिनों में हल्द्वानी, रुद्रपुर और राजधानी देहरादून में हुए छापेमारी में पुलिस ने कई स्पा सेंटरों से सेक्स रैकेट का खुलासा किया है।

उत्तराखंड में धंधा कर रही बाहर की युवतियां
अधिकांश जगह पकड़े गये सेक्स रैकेटों में बाहर की युवतियां सामने आयी। जिसमें से पश्चिमी बंगाल, मणिपुर, झारखंड, हरियाणा, दिल्ली, गाजियाबाद और यूपी की लड़कियां शामिल थी। यानी देवभूमि में देह व्यापार के धंधे को बढ़ावा देने के लिए बाहर से लड़कियां मंगाई जा रही है। अब रुद्रपुर में पकड़े गये तीन लड़कियों में तीन पश्चिमी बंगाल की और एक यूपी के पीलीभीत की है जो लंबे समय से हल्द्वानी और रुद्रपुर में किराये पर रहती थी। यहीं से वह अपने देह व्यापार का धंधा चलाती थी।

एक युवती से कमाते थे सात हजार
एंटी हयूमन ट्रैफिकिंग यूनिट ने दिनेशपुर के पास खड़ी स्विफ्ट डिजायर कार में उन्हें पकड़ा तो कई खुुलासे हो गये। वह लंबे समय रुद्रपुर, हल्द्वानी और नैनीताल में देह व्यापार करती थी। बकायदा इस धंधे को चमकाने के लिए उन्होंने दो दलाल भी रखे थे जो उनसे कमीश्न लेते थे। ग्राहक लाने का काम दलाल करते थे। जहां दलाल बोलते युवतियां वहीं देह व्यापार के लिए चली जाती है। रुद्रपुर में पकड़े गये दो दलालों ने खुलासा किया कि वह 10 हजार में एक रात की बुकिंग करते थे। इन पांचों की टीम लंबे समय से अपने धंधे को चला रहे थे।

Ad
Ad
यह भी पढ़ें 👉  देहरादून- (बड़ी खबर) शासन ने 35 IAS और PCS के किए तबादले, देखिए लिस्ट
अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments