Shemford School Haldwani

उत्तराखंड-(चमोली हादसा) जान हथेली पर रखकर टनल साफ कर रेस्क्यू कर रहे है देवदूत, अब तक अपडेट के लिए क्लिक करें

Bansal Sarees & Bansal Jewellers Ad
खबर शेयर करें

उत्तराखंड के चमोली जिले में रविवार को हुए हिमस्खलन से आई जलप्रलय ने तबाही का मंजर ला खड़ा कर दिया। तपोवन जल विद्युत परियोजना के बाहर इस तबाही के मंजर साफ देखे जा सकते हैं टनल में लोगों की तलाश में रेस्क्यू कर रहे एसडीआरएफ को जान जोखिम में डालकर रेस्क्यू ऑपरेशन चलाना पड़ रहा है। टनल के बाहर और अंदर भी कई मीटर तक कीचड़ ही कीचड़ भरा है।

यह भी पढ़े 👉हल्द्वानी-(बड़ी खबर) कोतवाली में मेयर सहित पार्षदों का धरना खत्म, कोतवाल अटैच, जांच के आदेश, पार्षद को थाने से जमानत

Kisaan Bhog Ata

दिन-रात रेस्क्यू ऑपरेशन में लगी टीमें देवदूत बनकर टनल के भीतर फंसे लोगों को सुरक्षित निकालने के लिए लगातार रेस्क्यू ऑपरेशन कर रही है लेकिन टनल में कई कई फीट तक मोटी गाद जमा है। लिहाजा रेस्क्यू टीम जेसीबी सहित अन्य एक्यूपमेंट का सहारा भी ले रही है। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत खुद तपोवन में कैंप कर बचाव राहत कार्य की मॉनिटरिंग कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- यहां पूर्व सैनिक ने की ऐसे पत्नी की हत्या, हत्याकांड से सहमा पूरा गांव

यह भी पढ़े 👉उत्तराखंड- यहां बर्थडे पार्टी में गई नाबालिग से दुष्कर्म की वारदात को दिया अंजाम

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल-(बड़ी खबर) जिले में 29 तक कर्फ्यू में मिलेगी यह छूट, DM ने जारी किए निर्देश

गौरतलब है कि अब तक इस जलप्रलय में उत्तराखंड समेत नौ राज्यों के लोग लापता हैं देर रात तक रेस्क्यू टीम द्वारा 26 शव बरामद कर लिए गए थे जबकि अभी 180 लोग लापता बताए जा रहे हैं एनडीआरएफ, एसडीआरएफ, आईटीबीपी, सेना किटी में लगातार लोगों की तलाश कर रही है लापता होने वाले लोगों में उत्तराखंड से 42, उत्तर प्रदेश से 46, झारखंड से 13, पंजाब से चार, बिहार से तीन, नेपाल से तीन, पश्चिम बंगाल से दो, जम्मू और कश्मीर से एक और उड़ीसा से एक है।

यह भी पढ़े 👉हल्द्वानी- (अभी-अभी) कोतवाल को हटाने की मांग ने पकड़ा तूल, भाजपाई बैठे सड़क पर, ये है पूरा मामला

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी- प्राइवेट स्कूल अगर ले रहे ज्यादा फीस तो यहां करें गोपनीय शिकायत

इस आपदा से सीमांत क्षेत्र के रैणी पल्ली, पैंग, लाता, सुराईथोटा, सुकी, भलगांव, तोलमा, फगरासु, लोंग सेगडी, गहर, भंग्यूल, जुवाग्वाड, जुगजू गांवो से सडक संपर्क अभी कटा है। ग्रामीणो का हालचाल जानने आज स्वयं मुख्यमंत्री लाता पहुंचे। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने आर्मी अस्पताल में भर्ती घायलों से मिलकर उनका हालचाल जाना।जबकि आर्मी अस्पताल जोशीमठ एवं आईटीबीपी अस्पताल जोशीमठ में भर्ती घायलों से मिलकर उनका हालचाल जाना उनके कुशल क्षेम पूछी।

अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments