Shemford School Haldwani
जम्मू कश्मीर के शोपिया में सेना की घातक टुकड़ी के जवान अनिल तोमर दुश्मनों से भारत माता की रक्षा करते हुए शहीद

भारत माँ का लाल शहीद, खबर से सदमे में पूरा गांव, नही जले चूल्हे

Bansal Sarees & Bansal Jewellers Ad
खबर शेयर करें
  • 169
    Shares

जम्मू कश्मीर के शोपिया में सेना की घातक टुकड़ी के जवान अनिल तोमर दुश्मनों से भारत माता की रक्षा करते हुए शहीद हो गए 5 गोलियां लगने के बाद भी अनिल तोमर आतंकियों से लड़ते रहे और वीरगति को प्राप्त हो गए जैसे ही यह खबर उनके गांव उत्तर प्रदेश के मेरठ में मुंडाली गांव के सिसौली में उनके परिवार तक पहुंची तो परिजनों में कोहराम मच गया गांव में सन्नाटा छा गया।

यह भी पढ़ें👉 BREAKING NEWS-आज राज्य में इतने लोगो की मौत, जानिए अपने इलाके का हाल

Kisaan Bhog Ata

भारत माता का लाल देश की रक्षा के खातिर सीमा में दुश्मनों की गोलियों से शहीद हुआ तो पूरे गांव में शोक की लहर दौड़ पड़ी अभी 17 दिसंबर को ही उसकी छुट्टी पूरी हुई थी और ड्यूटी में जाने के दौरान बच्चों से वादा करके गए थे कि अगली बार छुट्टी पर आएंगे तो उनको घूमने ले चलेंगे लेकिन बच्चों की है तमन्ना अधूरी रह गई।

यह भी पढ़ें 👉  Breaking News- अब टेंशन बढ़ा रहा कोरोना का डेल्टा प्लस वेरिएंट, पढ़िए नई अपडेट

यह भी पढ़ें👉 नैनीताल- बीडी पांडे अस्पताल के लिए डीएम बंसल ने जारी किया बजट, होंगे यह नए काम

गांव में सबसे व्यावहारिक और मिलनसार होने के चलते लोग अनिल तोमर का न सिर्फ सम्मान करते थे बल्कि सेना का जवान होने के चलते अनिल पर गर्व करते थे जैसे ही अनिल की शहादत की खबर मिली तो पूरे गांव में सन्नाटा पसर गया परिजनों के मुताबिक अनिल सेना के घातक प्लाटून का हिस्सा होने के चलते अक्सर कम फोन करते थे क्योंकि उन्हें आतंकी ऑपरेशन में जाते रहते थे आखरी बार 25 दिसंबर की शाम को उनके पिता से अनिल की बात हुई और हालचाल पूछने के बाद फोन कट गया।

यह भी पढ़ें 👉  Good News- पांच महीने और मुफ्त खाद्यान देने को मिली मंजूरी, इन लोगो को होगा फायदा

यह भी पढ़ें👉 देहरादून- शैलेश मटियानी पुरस्कार के लिए इन शिक्षकों का चयन, दीजिये बधाई

26 दिसंबर को भी अनिल का फोन स्विच ऑफ रहा और 27 दिसंबर को अनिल तोमर के एक साथ ही जवान का परिजनों को फोन आया और उन्होंने बताया कि अनिल को कई गोलियां लगी हैं अब ऑपरेशन हो गया चिंता की कोई बात नहीं है। लेकिन परिजनों ने राजस्थान के गंगानगर में सेना में तैनात अनिल के छोटे भाई सुनील से बात करके उसे दिल्ली से फ्लाइट से कश्मीर भेजा परिजनों के मुताबिक भाई को देखकर अनिल ने आंखें खोली और फिर हमेशा के लिए बंद कर दी डॉक्टरों ने बताया कि 5 गोलियां लगने से अधिक खून बह गया था। आखिरकार दुश्मनों से लोहा लेते हुए मां भारती का यह लाल देश की रक्षा के लिए कुर्बान हो गया।

यह भी पढ़ें 👉  Good News- पांच महीने और मुफ्त खाद्यान देने को मिली मंजूरी, इन लोगो को होगा फायदा

यह भी पढ़ें👉हल्द्वानी- थर्टी फर्स्ट को रिजॉर्ट और होटल में की पार्टी, तो पुलिस बैठी है यह एक्शन लेने को तैयार

यह भी पढ़ें👉 नैनीताल- स्टार हास्य कलाकार राजू श्रीवास्तव को माल रोड में घूमता देख फैंस हुए आश्चर्यचकित, किया ये काम

अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments