Shemford School Haldwani
ब्लैक फंगस का संदिग्ध मरीज

उत्तराखंड- कुमाऊं में यहां मिला ब्लैक फंगस का संदिग्ध मरीज, पहाड़ से मरीज हल्द्वानी रेफर

Ad - Bansal Jewellers
खबर शेयर करें

उत्तराखंड में ब्लैक फंगस की शुरूआत हो चुकी है। पहले देहरादून में इसके लक्षण देखने को मिले है। अब कुमाऊं में संदिग्ध ब्लैक फंगस का पहला मामला सामने आया है। जिसके बाद स्वास्थ विभाग में हडक़ंप मच गया। अल्मोड़ा में जांच के बाद अल्मोड़ा मेडिकल कॉलेज के चिकित्सकों ने उसे सुशीला तिवारी अस्पताल हल्द्वानी रेफर कर दिया है। वहां पर संदिग्ध मरीज की जांच की जाएगी।

यह भी पढ़ें 👉उत्तराखंड- पांच दिन बाद थी बड़े भाई की शादी, और छोटे भाई ने उठा लिया आत्मघाती कदम, खुशियों के बीच छाया मातम

जानकारी देते हुए अल्मोड़ा मेडिकल कॉलेज के ईएनटी ‌विशेषज्ञ डॉ. अमित आर्या ने बताया कि अल्मोड़ा के एक चिकित्सक के 64 वर्षीय बुजुर्ग पिता कोरोना संक्रमित होने के बाद कोविड अस्पताल बेस में भर्ती किया गया। पिछले तीन दिन उनकी आंख में सूजन और तेज सर दर्द की ‌शिकायत बढ़ गई। ऐसे में चिकित्सकों ने उनका सीटी स्कैन कराया।

यह भी पढ़ें 👉उत्तराखंड- (चिंताजनक) पिछले 10 दिन में एक हजार बच्चे कोरोना की चपेट में, देखिए आंकड़े

यह भी पढ़ें 👉  Breaking News- उत्तराखंड में यहां झील में समाई ऑल्टो, ग्राम प्रधान सहित चार लापता
यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- यहां रिश्तेदारी में जा रही थी आमा, गुलदार ने हमला कर मार डाला

सीटी स्कैन देखने के बाद चिकित्सकों के होश उड़ गये। उनमेंं संदिग्ध ब्लैक फंगस के लक्षण पाए गए। वह कोरोना संक्रमित होने के सा‌थ ही शुगर के मरीज भी हैं। अल्मोड में ब्लैक फंगस की जांच की सुविधा नहीं होने पर मरीज को ब्लैक फंगस का संदिग्ध मरीज मानते हुए सुशीला तिवारी अस्पताल हल्द्वानी रफेफर कर दिया गया है। मरीज में ब्लैक फंगस की पुष्टि जांच के बाद ही होगी। लेकिन उसमें जो लक्षण मिले है वह ब्लैक फंगस की तरह है।

यह भी पढ़ें 👉  Breaking News- राज्य में आज इतने कोरोना के मामले सामने आए, जानिए जिलों सहित हाल

यह भी पढ़ें 👉हल्द्वानी- कैसे सुधरेंगे ये लोग, अब SOG ने ओवररेटिंग में एंबुलेंस संचालक को किया गिरफ्तार

अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments