Aknur Motors, Bindukhatta
लोकगायिका उमा बंगारी

हल्द्वानी-हाथों में चूड़ी कांचा, चमकीरो मेरो लांचा… लोकगायिका उमा के गीत ने मचाया धमाल

Bansal Sarees & Bansal Jewellers Ad
खबर शेयर करें

हल्द्वानी- उत्तराखंड के संगीत जगत मेंं लोकगायकों के साथ ही कई लोकगायिकाओं ने भी अहम योगदान दिया हैं। उन्हीं के सपनों को सच करने में आज उत्तराखंड की कई युवा लोकगायिका लगी है। उन्हीं में से एक नाम लोकगायिका उमा बंगारी का भी है। जिन्होंने अपने सुरीली आवाज का सबको दीवाना बना दिया। जल्द ही वह उनका नाम आपको उत्तराखंड की सुर कोकिला की लिस्ट में देखने को मिलेगा। हाल ही में उनका कुमाऊंनी गीत लांचा रिलीज हुआ जो लोगों को खूब भा रहा है। रिलीज होते ही यह गीत सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो गया है।

ankur motors ad

यह भी पढ़े 👉उत्तराखंड- पहाड़ की बेटी का भारतीय टीम में यूथ वूमेन बॉक्सिंग चैंपियनशिप में सिलेक्शन, यूरोप में होगी चैंपियनशिप, दें शुभकामनाएं

इससे पहले लोकगायिका उमा बंगारी कई सुपरहिट गीत दे चुकी है। अब उनका लांचा गीत शादी-पार्टियों में खूब बज रहा है। खबर पहाड़ से विशेष बातचीत में लोकगायिका उमा बंगारी ने बताया कि उनका बचपन पहाड़ में बीता। 12वीं के बाद वह शहर चली गई ऐसे में उन्हें पहाड़ की बहुत याद आती थी। इन्हीं यादों में वह पहाड़ी गीतों को सुन लिया करती, पहाड़ी संगीत कानों में पडऩे के से पहाड़ के प्रति उनका प्यार हो बढ़ गया। ऐसे में उन्होंने अपने स्कूली दिन बहुत याद आते थे। बचपन में गाने की शौक ने उन्हें संगीत की ओर मोड़ा। फिर क्या था उन्होंंने राजस्थान में संगीत की क्लास जांइन की। गाना तो आता था पर सुरों के कैसे संवारा जाय, यह उन्होंने राजस्थान की संगीत एकेडमी में सीखा।

यह भी पढ़े 👉इस पहाड़ी गीत को गाकर इंडियन आईडल में पवनदीप ने फिर मचाया धमाल देखिए वीडियो

उमा बताती है कि जब लोग हिंन्दी गाने गाते थे तो उन्होंने कुमाऊंनी गीत सुनाये। ऐसे में सभी लोगों ने उनका मनोबल बढ़ाया। बस फिर क्या था वर्ष 2019 में उन्होंने अपना पहला गीत स्वामी दूर विदेश गीत से उत्तराखंड के संगीत जगत में अपना कदम रखा। यह गीत सुपरहिट हो गया। यह गीत खासकर होटलों मेंं नौकरी करने वाले पहाड़ के युवाओं पर गाया गया। जिसमें एक पत्नी अपनी पति से होटल की नौकरी का जिक्र करती है और पति के विरह में अकेलापन महसूस करते हुए उन्हें पहाड़ आने को कहती है। यह गीत खुद उमा बंगारी ने लिखा। इस गीत अभी तक 58 व्यूज मिले है। यह गीत टिक-टॉक पर सबसे ज्यादा वायरल हो गया। इसके बाद उमा ने कभी पीछे मुडक़र नहीं देखा। आज उनके करीब 10 गीत आ चुके है। जिन्हें लोगों ने खूब पसंद किया। अब लांचा गीत ने धमाल मचा रखा है। इस गीत में संगीत दिया है असीम मंगोली ने जबकि गीत गिरीश जीना ने लिखा है।

यह भी पढ़े 👉हल्द्वानी- लोकगायक जितेन्द्र तोमक्याल के बेटे का उत्तराखंड संगीत में आगाज, जल्द सुनाई देंगी मास्टर समीर की सुरीली आवाज

मूल रूप अल्मोड़ा जिले के भिकियासैण तहसील के तलाई गांव निवासी उमा बंगारी इन दिनों राजस्थान में है। पहाड़ के प्रति प्यार ने उन्हें संगीत की ओर खंीचा और बचपन के शौक ने उन्हें लोकगायिका बना दिया। आज हर कोई उनकी सुरीली आवाज का दीवाना है। बेटी की सफलता पर परिवार में खुशी का माहौल है। आज उमा को पूरा परिवार सपोट करता है। दूसरे राज्य में रहकर उत्तराखंड के संगीत को उमा एक नये मुकाम पर पहुंचाने में जुटी है। आप भी सुनिये उनका लांचा गीत…

अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 सिग्नल एप्प से जुड़ने के लिए क्लिक करें

👉 हमारे फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 हमें ट्विटर (Twitter) पर फॉलो करें

👉 एक्सक्लूसिव वीडियो के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

अंततः अपने क्षेत्र की खबरें पाने के लिए हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

Ad-Website-Development-Haldwani-Nainital
guest
2 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
2
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x