उत्तराखंडः वाह डाॅक्टर हो तो ऐसा, पहले मरीज को दिया खून फिर किया सफल ऑपरेशन

खबर शेयर करें -

Dehradun News: चिकित्सकों को धरती का भगवान यूं ही नहीं कहा जाता।  इस डाॅक्टर के कार्य को देखकर आप भी कहेंगे वाह डाॅक्टर हो तो ऐसा। उत्तराखंड के सबसे बड़े राजकीय दून मेडिकल कॉलेज में तैनात सीनियर रेजिडेंट ऑर्थोपैडिक डॉक्टर शशांक सिंह ने मानवता की मिसाल कायम की है। उन्होंने पहले मरीज को एक यूनिट खून दिया। इसके बाद जांघ की कई जगह से टूटी हड्डी का ऑपरेशन किया।राजकीय दून मेडिकल कॉलेज के ऑर्थोपैडिक डॉक्टर शशांक सिंह ने ऑपरेशन से पहले मरीज को खून देकर यह साबित किया कि मरीज के प्रति डॉक्टर कितने गंभीर होते हैं। 

सात नवंबर को देहरादून निवासी 60 वर्षीय अवधेश गहरे गड्ढे में गिरकर गंभीर रूप से घायल हो गए थे। उनकी छाती, हाथ और जांघ की हड्डी टूट गई है। इलाज के लिए उन्हें दून मेडिकल कॉलेज में भर्ती किया गया। छाती, बाएं हाथ और जांघ की हड्डी में फ्रैक्चर होने से मरीज को तीन दिन आईसीयू में रखने के बाद हालत ठीक हो पाई। 

डॉक्टरों ने उनकी जांघ की हड्डी का ऑपरेशन करने का निर्णय लिया। 23 नवंबर को ऑपरेशन होना था। लेकिन, खून की कमी होने से ऑपरेशन नहीं हो पा रहा था। उन्हें दो यूनिट खून की जरूरत थी। मरीज की इकलौती बेटी है।वह खून देने के लिए तैयार थी लेकिन स्किन इन्फेक्शन से खून नहीं दे पाई। मरीज के जानने वाले लोगों ने भी खून देने से मना कर दिया।  इलाज करने वाले डॉक्टर शशांक सिंह को जब पता चला कि खून का इंतजाम नहीं हो रहा है तो खुद ही खून दिया। इसके बाद मरीज की जांघ की हड्डी का ऑपरेशन किया।

यह भी पढ़ें 👉  रुद्रपुर-(बड़ी खबर) खनन विभाग की कारगुजारी से DM नाराज, दिए ये निर्देश
यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड -(दुःखद) नदी का लकड़ी पुल पार कर रहे थे मां- बेटा, दोनो बहे, गांव में कोहराम

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- (दुःखद) बारात की कार गिरी खाई में, मची चीख पुकार, 4 की मौत 2 घायल

About Post Author

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

WP Post Author

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments