Shemford School Haldwani
गिफ्ट के झांसे में आकर लुट गई इतनी बड़ी

नैनीताल-(हद है) गिफ्ट के झांसे में आकर लुट गई इतनी बड़ी रकम, आखिर समझ नहीं रहे लोग

Bansal Sarees & Bansal Jewellers Ad
खबर शेयर करें

नैनीताल- उत्तराखंड में बढ़ रहे साइबर क्राइम में लोगों को बेवकूफ बनाने के लिए ठगों का सबसे अच्छा चारा फ्री गिफ्ट का है साइबर ठग ऑनलाइन शॉपिंग के बहाने अक्सर फ्री गिफ्ट की दिए जाने की बात कहते हैं और लालच में लोग फिसल जाते हैं जिससे कि वह साइबर क्राइम का शिकार होते हैं। अब ताजा मामला मल्लीताल कोतवाली क्षेत्र से आया है जहां फ्री गिफ्ट के बहाने छात्रा से ₹1लाख 85 हजार की ठगी हो गई।

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून- कल से क्या कहता है मौसम का मिजाज जान लो, नही तो होगी परेशानी

यह भी पढ़े 👉.हल्द्वानी-(गजब) पुलिस ने पकड़ा था चांदी के सिक्के से भरा घड़ा, सुनार ने जब चेक किया तो गजब हो गया..

Kisaan Bhog Ata

जानकारी के मुताबिक मल्लीताल इलाके की एक छात्रा ने 2 फरवरी को ऑनलाइन शॉपिंग की थी जिसके बाद सामान भी ऑनलाइन डिलीवर हुआ लेकिन इसके बाद अज्ञात नंबर से फोन पर उन्हें ऑनलाइन शॉपिंग के लकी ग्राहक होने की बात कही गई साथ ही उन्हें फ्री गिफ्ट दिए जाने को कहा गया यही नहीं साइबर ठगों ने 5 गिफ्ट में से एक चुनने का विकल्प भी दिया साथ ही युवती से ₹5000 की शॉपिंग करने को कहा गया जिस पर युवती ने झांसे में आकर एक गिफ्ट कार्ड खरीद दिया। जब ठगो द्वारा ₹11999 का जीएसटी बिल देने को कहा गया तो इसके बाद छात्रा के खाते से रुपया कटना शुरू हो गया और लगभग ₹185000 की रकम कट गई। वहीं पुलिस अब शिकायती पत्र मिलने के बाद जांच में जुट गई है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- सुशीला तिवारी में मरीजों के मोबाइल चुराती थी सफाई कर्मी, ऐसे खुला राज
यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: पॉलीटैक्निक और बीकॉम के छात्र ऐसे करते थे पहाड़ में नशे का कारोबार

यह भी पढ़े 👉.उत्तराखंड- यहां OLX पर लोगों को चूना लगाने वाले शातिरों को पुलिस ने किया गिरफ्तार, स्कूटी बिक्री के नाम पर खेला था ऐसा खेल

यह भी पढ़े 👉.देहरादून-(बड़ी खबर) समूह ‘ग’ के पदों की बंपर भर्ती, जारी हुई विज्ञप्ति, इस तारीख से आवेदन शुरू

अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments