Aknur Motors, Bindukhatta

जै वीणावादनी (कुमांउनी दोहे)

Bansal Sarees & Bansal Jewellers Ad
खबर शेयर करें
  • 41
    Shares

हाथ जोड़ी विनय करूँ, धरिये माता लाज। मिटै दिये अन्यार कैं,   द्वार ऐ रयूँ आज।।
जब जब वीणा बाजछौ, फैल जाँछ तब ज्ञान।उज्याव दुणि में फैलछौ, मिट जाँछ सब अज्ञान।।
नाम जपनि माँ शारदे,  वाणि में छौ निवास ।साँच मन लै जैंल भजो, पुर हूँछौ सब आश।।
जय हे वीणापाणि माँ,  तिकैं भजूँ संसार।भरिं दिये माता सदा,   आब ज्ञान भंडार।।
सदा हाथ वीणा सजीं, बाजी जब झंकार।ज्ञान उनूँ कैं मिल जछौ, जो आयीं दरबार।।
ज्ञान देवी त्यौर करूँ, सदा सदा जयकार।भल बाट लें दिखैं दिये, भरिये ज्ञान भकार।। 
विद्या देवी भजूँ तिकैं, हंस सवारी नाम। माता चरणों में त्यौर, दुणिं कौ ज्ञान धाम ।।
रोग  दोष  दूर  करिये,   दुणि  हैजो खुशहाल। भौल बुलाणक मति एजो,कटि जो सब जंजाल।। 
हर घर ज्ञानक दिप जलो, मिटी जो सब अन्यार। भलि मति हामूँकैं दिये,  सुण छै सदा पुकार।।
विद्या धन ठुल छूँ दुणि में, भरि ल्यो यैं भंडार।माँ त्यौर शरण ऐ रयूँ ,  करि  दै  वेणा  पार।।

ankur motors ad
अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 सिग्नल एप्प से जुड़ने के लिए क्लिक करें

👉 हमारे फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 हमें ट्विटर (Twitter) पर फॉलो करें

👉 एक्सक्लूसिव वीडियो के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

अंततः अपने क्षेत्र की खबरें पाने के लिए हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

Ad-Website-Development-Haldwani-Nainital
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x