उत्तराखंड- जिंदगी की आस में उम्मीदों का सपना ध्वस्त, दुर्घटना ने छीन ली सांस की डोर, पत्नी ने दी पति को मुखाग्नि

खबर शेयर करें -

हल्द्वानी के गोपाल को ब्रेन हेमरेज आने के बाद दिल्ली के सफदरगंज अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां से उन्हें बेहतर इलाज के लिए एम्स ऋषिकेश एंबुलेंस लाया जा रहा था। वहीं, मंगलौर के मुंडयाकी के पास ओवरटेक करने के चक्कर में एंबुलेंस एक ट्रक से जा टकराई। हादसे में मरीज गोपाल की मौत हो गई। जबकि अन्य तीन घायलों को रुड़की सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया।

अस्पताल में जिंदगी और मौत से जूझ रहे पिता के इलाज के लिए पैसे नहीं होने पर उनकी दो मासूम बेटियों ने लोगों से दान मांगा। जिसके बाद सीएम पुष्कर सिंह धामी ने परिवार को एक लाख रूपये की तुरंत सहायता दी थी, साथ ही उनके इलाज कराने का परिजनों को आश्वासन दिया। वहीं, कई समाजसेवी और संस्थाओं ने मदद के लिए हाथ आगे बढ़ाया था कि यह दुखद हादसा हो गया।

रविवार को आज हल्द्वानी के चित्र शिलाघाट में मृतक गोपाल शर्मा की पत्नी सुनीता शर्मा ने अपने पति चिता को मुखाग्नि दी। अंतिम संस्कार के दौरान एसडीएम मनीष कुमार और तहसीलदार संजय सहित कई लोग मौजूद रहे। जिंदगी से जंग लड़ रहे गोपाल शर्मा का परिवार और बच्चे उन्हें हर हाल में स्वस्थ करने की कोशिशों में दरबदर भटकते रहे, लेकिन दुर्घटना ने परिवार की सारी उम्मीदें खत्म कर दी । जिससे परिवार पूरी तरह टूट चुका है। इस दौरान वहां मौजूद सभी लोगों की आंखें नम दिखाई दी।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी-(बड़ी खबर) यहां मिली लाश, ऐसे हुई शिनाख्त, पुलिस जांच में जुटी
यह भी पढ़ें 👉  देहरादून-(बड़ी खबर) UKSSSC घपले मामले में हाकम की 6 करोड़ की संपत्ति पर नई Update

About Post Author

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

WP Post Author

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments