Ad

हल्द्वानी-(दुःखद)- यहां ट्यूशन पढ़ने जा रहे मासूम भाई-बहन को डम्फर कुचला, बहन की मौत, भाई अस्पताल में

खबर शेयर करें

लालकुआं- निकटवर्ती क्षेत्र बिंदुखत्ता के राजीवनगर प्रथम काररोड में पुरानाखत्ता क्षेत्र को जाने वाली सड़क में साइकिल से ट्यूशन जा रहे भाई बहन को बेतरतीब पर ने टक्कर मार दी, परिणाम स्वरूप बालिका की एसटीएच चिकित्सालय में उपचार के दौरान दर्दनाक मौत हो गई। जबकि उसका बड़ा भाई जख्मी हैं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार सुबह 9:30 बजे बिंदुखत्ता के राजीवनगर प्रथम निवासी भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल के जवान देवेंद्र सिंह बिष्ट की 6 वर्षीय बेटी चाहत बिष्ट (रिंकी) अपने बड़े भाई 11 वर्षीय दिव्यांशु के साथ साइकिल द्वारा ट्यूशन पढ़ने जा रही थी, तभी काररोड क्षेत्र से आ रहे तेज गति के डंपर ने साइकिल को टक्कर मार दी, जिससे उक्त बालिका रिंकी एवं उसका भाई दिव्यांशु उसकी चपेट में आ गये, जिन्हें आनन-फानन में क्षेत्रवासी तुरंत ही एसटीएच चिकित्सालय हल्द्वानी ले गए, जहां उपचार के दौरान बालिका ने दम तोड़ दिया है। जबकि दिव्यांशु का उपचार चल रहा है वह अब ठीक है। उक्त घटना से जहां परिवार में कोहराम मच गया है, वही क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ पड़ी है। क्षेत्रवासियों ने पुलिस प्रशासन से मांग की है कि गांव में बेतरतीब चल रहे डंपर एवं ट्रकों पर लगाम लगाई जाए।

देवेंद्र सिंह बिष्ट वर्तमान में आईटीबीपी में अरुणाचल प्रदेश में सेवारत हैं, उनके ये ही दो बच्चे थे। विदित रहे कि कुछ समय पूर्व देवेंद्र बिष्ट पिथौरागढ़ में तैनात थे, वही इनके यह दोनों बच्चे शिक्षा ग्रहण कर रहे है, वर्तमान में ऑनलाइन पेपर होने के चलते यह दोनों बच्चे बिंदुखत्ता में अपने घर के पास ही ट्यूशन पढ़ने जा रहे थे, तथा 1 माह पूर्व ही बच्चों को बिंदुखत्ता पहुंचाकर देवेंद्र अरुणाचल स्थित अपनी ड्यूटी को चले गए हैं।

उनकी धर्मपत्नी अनीता बिष्ट लालकुआं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में एएनएम के पद पर कार्यरत है। उक्त घटना से जहां परिवार में कोहराम मच गया है वहीं क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ पड़ी है।

Ad
यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- (बड़ी खबर) नहीं रुक रहे हादसे, यहां 3 लोग डूबे, एसडीआरएफ का रेस्क्यू जारी
अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments