हल्द्वानी- पंजाब एंड सिंध बैंक में पीओ के पद पर हल्द्वानी के मुकुल का चयन, मेहनत से पाया मुकाम

खबर शेयर करें -

हल्द्वानी- कड़ी मेहनत इंसान को कामयाबी की ओर ले जाती है इसका उदाहरण बने हैं पंजाब एंड सिंध बैंक में प्रोबेशनरी ऑफिसर के पद पर चयनित हुए हल्द्वानी के मुकुल चिलवाल, जिन्होंने बचपन से ही पढ़ाई में एकाग्रता दिखाते हुए अपना नाम रोशन किया मूल रूप से अल्मोड़ा के रहने वाले मुकुल अपनी मेहनत और लगन से पंजाब और सिंध बैंक में प्रोबेशनरी ऑफिसर के पद पर चयनित हो गए हैं उनकी इस उपलब्धि से न सिर्फ परिवार में खुशी का माहौल है बल्कि उनके दोस्त और आसपास के लोग उन्हें बधाइयां दे रहे हैं।

मुकुल के पिता इंद्र सिंह चिलवाल और माता सुशीला चिलवाल और भाई सुनील हैं जो कि मूल रूप से गांव पठूरा गोविंदपुर अल्मोड़ा के रहने वाले हैं और वर्तमान में हल्द्वानी की पीली कोठी फेज टू में रहते हैं। प्राथमिक शिक्षा आर्मी पब्लिक स्कूल से पूरी करने के बाद मुकुल ने दसवीं क्लास में डीएवी कोटद्वार में 83 फ़ीसदी अंकों के साथ जिले में टॉप 20 में अपना स्थान बनाया जिसके बाद इंटरमीडिएट आर्यमन विक्रम बिरला हल्द्वानी से किया और डी आई टी देहरादून से बीटेक करने के बाद उन्होंने कैट की परीक्षा दी लेकिन उन्होंने अपना फोकस एमबीए पर किया भीमताल डीएमएस से एमबीए करने के साथ ही उन्होंने कुमाऊं विश्वविद्यालय में पहला स्थान प्राप्त किया और गवर्नर से गोल्ड मेडल प्राप्त कर अपने मेहनत का लोहा मनवाया।

इसके बाद मुकुल का कैरियर का संघर्ष शुरू हुआ जहां उन्होंने नोएडा सहित कई कंपनियों में काम किया साथ ही खाली समय पर कंपटीशन की तैयारी करते रहे आखिरकार उन्हें पंजाब एंड सिंद बैंक में प्रोबेशनरी ऑफिसर के पद पर नौकरी पाने में सफलता मिली जिसके बाद से ही मुकुल के दोस्त और परिवार के लोग उनकी इस सफलता को लेकर काफी प्रसन्न है।

यह भी पढ़ें 👉  शाबास भुलीः हल्द्वानी की मौलिका को ब्रिटेन की महारानी ने दिया ये खास सम्मान, दुनियां में हो रही वाहवाही
यह भी पढ़ें 👉  देहरादून-(बड़ी खबर) नंदा गौरा योजना को लेकर बड़ी अपडेट

About Post Author

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

WP Post Author

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments