हल्द्वानी- लालकुआं दुग्ध संघ ने रक्षाबंधन में की रिकॉर्ड तोड़ बिक्री, रचा इतिहास

खबर शेयर करें -

लालकुआं- नैनीताल दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ द्वारा रक्षा बधंन पर्व पर रिकार्ड सवा लाख लीटर दुग्ध विक्रय कर एतिहासिक उपलिब्ध हासिल की है। संस्था की इस उपलिब्ध पर संघ प्रबन्धन ने समस्त दुग्ध उपभोक्ताओं, दुग्ध विक्रेताओ के साथ आंचल परिवार को इसका श्रेय देते हुए बधाई दी ।

नैनीताल दुग्ध संघ द्वारा रक्षाबंधन अवसर पर 2198 आंचल दुग्ध विक्रताओं केे माध्यम से 125039 (एक लाख पच्चीस हजार उन्तालीसे) लीटर रिकार्ड दुग्ध बिकय की एतिहासिक उपलिब्ध हासिल की गई इस उपलिब्ध पर पर संस्था के अध्यक्ष मुकेष सिह बोरा द्वारा दुग्ध एंव दुग्ध उत्पादों में रिकार्ड बिक्री दर्ज करने पर समस्त दुग्ध उत्पादको, उपभोक्ताओं, कर्मचारियों/अधिकारियों व प्रबन्ध कमेटी के सहयोग का परिणाम बताते हुए बधाई दी तथा आज बाजार में आंचल दुग्ध एंव उत्पादो की बिक्री में बढत परं आंचल परिवार से जुडे सभी लोगो का आभार व्यक्त कहा कि आज उपभोक्ताओं को बेहतर गुणवत्ता के उत्पाद हर समय उपलब्ध हो रहा तथा उपभोक्ताओं के इसी विश्वास का ही परिणाम है कि संस्था द्वारा सवा लाख लीटर से अधिक दुग्ध विक्रय लक्ष्य को हासिल करने में सफल रही है ।

विपणन नेटवर्क को मजबुत करने के उद्देश्य से दुग्ध संघ द्वारा 3 रेफ्रीजिरेटेड व 2 इंसुलेटेड वैनो का संचालन किया जा रहा है तथा उत्कृष्ट व्रिकय करने वाले आंचल दुग्ध विक्रताओं को 235 विजीकुलर व 348 डिपी फ्रिज वितरित किये गये है कोल्ड चैन बरकरार रहने से दुग्ध विक्रय के साथ साथ दुग्ध उत्पादो में भी रिकार्ड बिक्री दर्ज हुई है ।
संस्था के सामान्य प्रबन्धक निर्भय नारायण सिह ने जानकारी देते हुए कहा कि रक्षा बन्धन पर्व पर इस वर्ष दुग्ध संघ द्वारा गत वर्ष से तरल दूध में 12422 लीटर अधिक बिक्री की गई जो अब तक सबसे अधिक है और इसके साथ ही मक्खन में दोगुना, घी में तीन गुना, मटठे में बारह गुना वृद्वि व इसके साथ ही छाछ व मटका दही विक्रय में भी आपेक्षित वृद्धि हुई है।

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
यह भी पढ़ें 👉  देहरादून-(बड़ी खबर) मुख्य सचिव ने ली अधिकारियों की बैठक, दिए ये महत्वपूर्ण निर्देश
अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

[wp-post-author]

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments