हल्द्वानी – दूल्हा सेहरा बांध पहुंचे दुल्हनिया लेने, दुल्हन ने शादी से किया इनकार – जानें पूरा मामला

खबर शेयर करें -

लालकुआं। नगर के अंबेडकर पार्क में आयोजित विवाह समारोह के दौरान रंग में भंग उस समय पड़ गया जब दुल्हन ने दूल्हे को देखते ही विवाह करने से साफ इनकार कर दिया, जिसके बाद दोनों पक्षों के बीच तीखी नोकझोंक हुई अंततः दूल्हे को बिना दुल्हन के बैरंग लौटना पड़ा। दुल्हन पक्ष के अनुसार पूर्व में दिखाया गया लड़का अन्य था जबकि दूल्हा दूसरा ही निकला।
प्राप्त जानकारी के अनुसार कोतवाली क्षेत्र के संजयनगर स्थित एक धर्म विशेष वर्गिकी युवती की बारात लालकुआं अंबेडकर नगर स्थित बरात घर में शनिवार को बरेली से पहुंची, जहां दुल्हन पक्ष ने बारातियों की खूब खातिरदारी की।

बारातियों ने जमकर नाश्ता और खाना खाया जिसके बाद मुस्लिम रीति रिवाज के अनुसार शादी की रसम शुरू हुई इस दौरान दूल्हा जब मंडप में पहुंचा तो दुल्हन की बहन ने दिखाया गया लड़का अन्य होने का आरोप लगाते हुए मौजूदा दूल्हे की उम्र और उसके पैरों में तकलीफ होने की बात कह कर शादी के रस्म को रुकवा दिया, जिसके बाद जबरदस्त हंगामा हुआ और वह काफी देर तक चलता रहा। इस बीच जब दुल्हन को बुलाया गया तो दुल्हन ने भी शादी करने से साफ इनकार कर दिया, दुल्हन के परिजनों ने आरोप लगाया कि दिखाया गया लड़का दूसरा था यदि हम इस लड़के से भी विवाह करें तो दूल्हे की उम्र दुल्हन से काफी अधिक है और उसके पैर तकलीफ है, जिसके चलते वह शादी नहीं करेंगे। दूल्हे के परिवार वालों का

आरोप है कि दुल्हन पक्ष के लोग उसके घर पर कई बार आकर दूल्हे को देख गए थे, लेकिन आज शादी करने से मना कर रहे हैं ऐसे में उनकी समाज में बदनामी हो रही है। काफी देर तक हुए हंगामे के बाद पुलिस ने बीच में हस्तक्षेप कर दोनों पक्षों को समझा-बुझाकर वापस भेज दिया जहां बरात बिना शादी के वापस लौट गई। इधर कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक आर वर्मा का कहना है कि गश्ती पुलिस के जवानों ने मस्तान पेट्रोल पंप के सामने भीड़ एकत्रित देखी जिन्हें तितर-बितर किया गया परंतु उक्त मामले में किसी भी पक्ष की ओर से कोई तहरीर नहीं मिली है।

About Post Author

Ad
Ad
अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

WP Post Author

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments