हल्द्वानी- सेक्स रैकेट में ग्राहकों के लिये 15 सौ रुपये से थी बुकिंग शुरू, स्पा सेंटर का प्रबंधक ऐसे चलाता था पूरा नेटवर्क

Ad - Bansal Jewellers
खबर शेयर करें

Haldwani News- शहर में कई स्पा सेंटर चल रहे है। पिछले एक सप्ताह से पुलिस लगातार छापेेमारी कर रही है। हल्द्वानी जैसे शहर में स्पा की आड़ में चल रहे सेक्स रैकेट के खुलासेे से कई सवाल खड़े हो गये है। पकड़ी गर्ई नौ युवतियों में से दो यूपी, एक-एक मध्यप्रदेश, मणिपुर, पश्चिम बंगाल की है जबकि तीन युवतियां हरियाणा की हैं।

1500 रुपये से बुकिंग शुरू
बाहरी राज्यों से आकर सेक्स रैकेट मेंं शामिल युवतियांं के दाम अगल-अगल लगते थे। मैनेजर के मोबाइल से पता चला कि ग्राहक, मैनेजर को मैसेज करते थे, वह उन्हें फोटो दिखाता था। इसके बाद रेट तय होते थे। 1500 रुपये से मैनेजर लड़कियों की बुकिंग की शुरुआत करता था। इससे ज्यादा भी दाम लगते थे। बेसमेंट में कैद लड़कियों को ग्राहक के पसंद करने पर ही बाहर निकाला जाता था।


इंग्लिश में बोलती थी मणिपुर की लडक़ी
स्पा सेंटर में पकड़ी गई युवतियों का कहना था कि वे अपने घर जाना चाहती थी लेकिन संचालिका ने उनका पैसा रोक रखा था। इसलिए वह सभी ठहरी हुई थीं। इनमें से मणिपुर निवासी एक युवती को हिंदी नहीं आती है। ऐेसे में वह अंग्रेजी में बात करती थी। अधिकतर लड़कियों को नौकरी के बहाने बुलाकर देह व्यापार कराया जा रहा था। इनमें से एक लडक़ी ने बताया कि संचालिका ने उसे जान से मारने की धमकी दी थी। वह अपने घर जाना चाहती थी, लेकिन उसे कैद कर रखा गया था।

पहले स्पा में झांडू पोछा करता था तपश
स्पा सेंटर का प्रबंधक तापस रिसेप्शन से माइक पर आवाज देकर एक लडक़ी को बुलाता था, एक लडक़ी हर दिन तीन सर्विस देती थी। पुलिस का कहना है कि पश्चिम बंगाल का मूल निवासी स्पा सेंटर का प्रबंधक तापस पहले झाड़ू पोंछा लगाता था लेकिन संचालिका ने उसे प्रबंधक बना दिया।सेंटर से हर दिन करीब 50 हजार की कमाई होती थी। किसी ग्राहक का नाम पता नोट नहीं किया जाता था।

यह भी पढ़ें 👉  Breaking News- फिर वही पुराने हालात, आज फिर आए रिकॉर्ड तोड़ मामले, देखी अपने इलाके का हाल
Ad
अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments