Shemford School Haldwani

उत्तराखंड के लिए गौरवशाली क्षण, शहीद मेजर विभूति शंकर ढौंडियाल की पत्नी निकिता बनी लेफ्टिनेंट

Ad - Bansal Jewellers
खबर शेयर करें
  • 425
    Shares

उत्तराखंड- उत्तराखंड के लिए आज एक और गौरवशाली दिन है यहां 18 फरवरी 2019 को कश्मीर के पुलवामा में सर्वोच्च बलिदान देने वाले मेजर विभूति ढौंडियाल की पत्नी निकिता ढौंडियाल आज भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट बन गई है। नोएडा में एक सॉफ्टवेयर कंपनी में काम करने वाली निकिता अपने पति मेजर विभूति की शहादत के बाद अपने मजबूत इरादों से पीछे नहीं हटी और उन्होंने सेना में शामिल होने का मन बनाया।

निकिता ने 2019 में इलाहाबाद में वूमेन एंट्री स्कीम की परीक्षा दी। जिसे पास कर उन्होंने स्क्रीनिंग टेस्ट ,साइकोलॉजिकल टेस्ट, ग्राउंड टेस्ट, इंटरव्यू मेडिकल टेस्ट में पास होने के बाद मार्च 2020 में मेरिट लिस्ट में सेलेक्ट हुई और उसके बाद चेन्नई की ऑफिसर ट्रेनिंग अकैडमी से उन्हें कॉल लेटर आया।

पति के सर्वोच्च बलिदान दिए जाने के बाद निकिता ने एक मजबूत भारतीय नारी का जज्बा दिखाते हुए सेना की ट्रेनिंग लेते हुए आज सेना में शामिल हो गई हैं उन्हें कंधों पर सितारे लगते देख प्रदेश के मुख्यमंत्री गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा कि पुलवामा हमले के दौरान सर्वोच्च बलिदान देने वाले शौर्य चक्र से सम्मानित मेजर विभूति शंकर ढौंडियाल की पत्नी श्रीमती निकिता का सेना में भर्ती होना न केवल उनके वीर पति की सच्ची श्रद्धांजलि है बल्कि उत्तराखंड के लिए भी या गौरव का क्षण है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- फेसबुक में मिली युवती से हुआ प्यार, शादी हुई लेकिन दुल्हन निकली पहले से विवाहित
अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

2 Comments
Inline Feedbacks
View all comments