Ad

उत्तराखंड- सोमेश्वर के अंजली हत्याकांड का सच, आखिर यू हुआ एक तरफा प्रेम कहानी का अंत

Ad - Bansal Jewellers
खबर शेयर करें

Someshwar News- अल्मोड़ा जिले के सोमेश्वर तहसील में एक तरफा प्रेम कहानी का अंत खूनी खेल से हुआ। हत्याकांड के बाद क्षेत्र में सनसनी फैल गई। अब सोमेश्वर में हुए अब तक के सबसे बड़े खूनी खेल में कथित प्रेमिका की हत्या के बाद युवक ने भी मौत को गले लगा लिया।आईये जानते है पूरा मामला।

दरअसल सोमेश्वर के चनौदा जैसे शांत बाजार में गांधी आश्रम के पास रहने वाले हरीश सिंह बोरा की पुत्री अंजलि की चाकू से गोद हत्या कर दी गई थी। वह घर के तीसरे माले में अकेली थी। कान व आंख से कमजोर दादी दूसरे निचले तल में सोई थी। पिता हरीश सिंह पास ही दुकान में जबकि मां खेतों की तरफ गई थी।

इस हत्याकांड को अंजाम देने वाला युवक बले गांव ढौनीगाढ़ का दीपक सिंह भंडारी का नाम सामने आया। हत्याकांड को अंजाम देने के बाद आरोपी कांटली रोड की ओर फरार हो गया। जिसने पच्चीसी कांटली रोड पर चायबागान के पास जहर गटक लिया। इस दौरान आसपास के ग्रामीणों ने उसे देखा जिसके बाद नाजुक हालत में कौसानी के अस्पताल पहंचाया। लेकिन उसकी हालत गंभीर होने से सीएचसी बैजनाथ (बागेश्वर) रेफर किया गया लेकिन देर रात उसकी भी मौत हो गई।

इस केस में दोनों की मौत हो गई। लेकिन पुलिस जांच में कई मामले सामने आए। बताया जा रहा है कि अंजलि व दीपक तीन साल से एक दूसरे को जानते थे। उन दोनों में गहरी दोस्ती थी। लॉकडाउन में दीपक बेरोजगार हो गया था। तब से गांव में ही अपना कारोबार करने लगा। एसओ राजेंद्र सिंह बिष्ट के अनुसार वह अंजलि के घर आता रहता था। कुछ समय से दोनों में दूरियां बढऩे लगी। माना जा रहा है कि शादी के लिए युवती राजी नहीं थी।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल- ओमीक्रोन (Omicron Variant)की टेंशन के बीच नैनीताल आने वाले पर्यटकों के लिए काम की खबर
यह भी पढ़ें 👉  देहरादून- ओमिक्रोन वैरिएंट ने दी टेंशन, अब स्वास्थ्य विभाग ने दिए ये निर्देश

इधर लोग दबी जुबान बोल रहे है कि दूरियां बढऩे पर एकतरफा प्रेम व शादी की जिद पर अड़ा दीपक कथित प्रेमिका के घर पहुंचने लगा था। यह अंजलि को ठीक नही लगा। इससे नाराज अंजली 16 अगस्त को वह थाने जा पहुंची। जहाँ उसने दीपक पर पीछा कर परेशान करने का आरोप लगाया। पुलिस ने दीपक को थाने बुलाकर समझाया। इसके बाद दोनों में सुलह भी हो गई। मगर कभी अच्छी दोस्त रही कथित प्रेमिका के उसी के खिलाफ थाने में जाकर शिकायत करना दीपक को खटक गया। बस यही से हुआ हत्याकांड को अंजाम तक पहुचाने का प्लान।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- IAS दीपक रावत कुमाऊं के नए कमिश्नर बने, देखिए आदेश

आज दिन भर सोमेश्वर बाजार में सन्नटा पसरा रहा। अंजलि की सोमेश्वर जबकि दीपक सिंह की सरयू घाट (बागेश्वर) में अंत्येष्टि की गई। एसओ सोमेश्वर राजेंद्र सिंह बिष्ट ने बताया कि युवती ने मौखिक शिकायती की थी। उसने बताया था कि दीपक उसका प्रेमी रहा है लेकिन वह उसके साथ नहीं रहना चाहती थी। तब हमने युवक को समझाया कि जब युवती राजी नहीं है तो पीछा न करे। लड़का मान गया था। दोनों में समझौता हो गया था।

Ad
Ad
अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments