Shemford School Haldwani
स्मार्ट व्हीकल स्टीकर

हल्द्वानी- स्मार्ट व्हीकल स्टीकर ऐसे बचा सकता है लोगों की जान, हल्द्वानी के युवाओं ने किया अनोखा अविष्कार

Bansal Sarees & Bansal Jewellers Ad
खबर शेयर करें

हल्द्वानी- आज के दौर में सबसे ज्यादा सड़क दुर्घटनाओं में मौत त्वरित इलाज ना मिलने से होती है और सबसे ज्यादा घटनाओं में दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति के परिजनों को समय पर सूचना न मिलने से घायल का उपचार नहीं हो पाता है । इन्हीं सब परेशानियों को देख उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के 4 युवाओं ने एक ऐसा स्मार्ट व्हीकल स्टीकर तैयार किया है जो हादसे के समय न सिर्फ परिजनों को मैसेज पहुंचा देगा बल्कि वाहन को पार्किंग में खड़े होने पर भी मदद करेगा।

यह भी पढ़े 👉हल्द्वानी-सोशल मीडिया पर वायरल हुई महेश कुमार की पिंक साड़ी, पहली बार आया अनोखा उत्तराखंडी गीत

Kisaan Bhog Ata

दरअसल हल्द्वानी के कालाढूंगी के रहने वाले विक्रम सिंह ने लॉकडाउन में ‘मिल जाएगा’ नाम से एक कंपनी बनाई और इस कंपनी में सीईओ राजेश पंत के अलावा गौरव बिष्ट और भोपाल निवासी हंसराज सेठी भी जुड़े हैं इन चारों युवाओं ने लॉकडाउन के दौरान एक ऐसा स्मार्ट व्हीकल स्टीकर तैयार किया है जो साइकिल से लेकर ट्रक तक सभी वाहनों में काम करेगा यह स्मार्ट स्टिकर किसी भी आपात स्थिति में 10 से 15 सेकंड के अंदर परिजनों को सूचना दे सकता है दरअसल अगर यह स्टिकर किसी भी वाहन में लगा है और वह वाहन दुर्घटनाग्रस्त हो गया तो कोई भी व्यक्ति अपने मोबाइल के स्केनर से या अन्य स्कैनर से इस स्टिकर को स्कैन करते हैं परिजन को टेक्स्ट मैसेज या कॉल कर सकता है और यह कॉल टोल फ्री नंबर पर आएगी यही नहीं इसमें नंबर भी गोपनीय रहेगा।

यह भी पढ़ें 👉  Breaking News- राज्य में एक्टिव केस 2896, और 8 लोगों की मौत, जानिए अपने इलाके का हाल

यह भी पढ़े 👉हल्द्वानी- 800 बकायेदारों को तीन दिन का अल्टीमेटम, सरकारी विभागों में भी इतने करोड़ बकाया

इसके अलावा यदि आपके कार किसी पार्किंग के अन्यत्र खड़ी है तो वहां पर भी इस स्पीकर की मदद से स्कैन करके आप गाड़ी के स्वामी को तत्काल बता सकते हैं जिससे कि वह गाड़ी वहां से हटाई जा सके। सॉफ्टवेयर के काम से जुड़े मिल जाएगा कंपनी के सभी चारों सदस्य फाउंडर विक्रम सिंह, सीईओ राजेश पंत, गौरव बिष्ट और मध्य प्रदेश के भोपाल के रहने वाले हंसराज सेठी ने मार्केटिंग से लेकर तकनीकी सहयोग में अपना योगदान दिया है।

यह भी पढ़ें 👉  VACANCY-2021: NHM ने 2800 पदों पर निकालीं हैं बंपर भर्ती, 30 जून से शुरू होंगे आवेदन

यह भी पढ़े 👉हल्द्वानी-(अभी- अभी) इस इलाके में फायरिंग से हड़कंप, पुलिस मौके पर

सीईओ राजेश पंत का कहना है कि इस दुनिया का सबसे अनोखा टूल है जो कहीं भी किसी भी घटना के समय तत्काल इमरजेंसी नंबर पर सूचना देने के काम आ सकता है और अब तक 90 फ़ीसदी दुर्घटनाओं में परिजनों को तत्काल सूचना न मिलने से दुर्घटना ग्रस्त व्यक्ति का उतना गंभीरता से इलाज नहीं हो पाता जितना कि होना चाहिए यही वजह है कि त्वरित इलाज ना मिलने से सड़क दुर्घटनाओं में मौत का रेशियो पड़ जाता है और इन्हीं घटनाओं पर लगाम लगाने के लिए मिल जाएगा कंपनी ने अपने इस स्मार्ट व्हीकल स्टिकर को बनाया है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: (गजब का प्यार)- बीबी के साथ आया ससुराल, नाबालिग साली को लेकर हो गया फरार

यह भी पढ़े 👉नैनीताल- इस स्टोन क्रेशर के मामले में हाईकोर्ट में हुई सुनवाई, सरकार से मांगा गया यह जबाब

कंपनी के सीईओ राजेश पंत का कहना है कि इसकी शुरुआती कीमत महज ₹500 रखी गई है इसके अलावा इंडियन पेटेंट ऑफिस में भी इस स्पीकर के पेटेंट की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है साथ ही राजस्थान और उत्तराखंड में भी सरकारों से बात कर इसे अपनाने की अपील की गई है।

यह भी पढ़े 👉हल्द्वानी- श्याम मार्बल्स लूट मामला, पुलिस की 6 टीमें कर रही यह काम, लेकिन

अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

1 Comment
Inline Feedbacks
View all comments