हल्द्वानी-(बड़ी खबर) DM के आदेश ने किया मामला शांत

खबर शेयर करें -

हल्द्वानी- पर्वतीय उत्थान मंच हल्द्वानी में चल रहे विवाद में आज उस समय विराम लग गया जब रिसीवर को हटाने का आदेश जिलाधिकारी नैनीताल द्वारा जारी कर दिया गया, उत्थान मंच के पदाधिकारियों ने इस पर खुशी का इजहार करते हुए राज्य सरकार जिला प्रशासन एवं क्षेत्रीय विधायक बंशीधर भगत का आभार व्यक्त किया।

हल्द्वानी,पर्वतीय सांस्कृतिक उत्थान मंच की बैठक में सभी लोगों का आभार प्रकट किया गया जिन्होंने कल मंच परिसर में आकर पर्वतीय सांस्कृतिक उत्थान मंच को अपना समर्थन दिया, पर्वतीय सांस्कृतिक उत्थान मंच का एक शिष्ट मंडल कल पूर्व कैबिनेट मंत्री विधायक बंशीधर भगत जी का आभार प्रकट करने उनके निवास स्थान पर जायेगा,मंच की बैठक मैं कहा गया कि विधायक बंशीधर भगत ने मंच से रिसीवर हटाने की घोषणा व पर्वतीय सांस्कृतिक उत्थान मंच की जमीन पर किसी भी कीमत पर कब्जा नही होने दिया जाएगा की सार्वजनिक घोषणा कर पर्वतीय समाज व संस्कृति की रक्षा में बहुत बड़ा योगदान दिया है।

बैठक की अध्यक्षता डॉक्टर चंद्र शेखर तिवारी ने की, बैठक मैं संस्थापक सदस्य हुकम सिंह कुंवर ने कहा कि कल मंच मैं आकर जिन लोगों ने पर्वतीय सांस्कृतिक उत्थान मंच की भूमि व संस्कृति को बचाने का संकल्प लिया उनका पर्वतीय समाज हमेशा ऋणी रहेगा,उन्होंने कहा कि हम व्यक्ति गत लड़ाई नहीं लड़ रहे है यह तो पूरे पर्वतीय क्षेत्र की संस्कृति बचाने की लड़ाई है,पूरे समाज को एक जुट होना होगा,हेमंत बगड़वाल ने कहा कि गोलज्य के मंदिर मैं कब्जा करने की कोशिश नाकाम हो गई है, 8 जनवरी से 15 जनवरी तक चलने वाले उतरानी कौतिक को भव्य बनाने व उसकी तैयारी पर चर्चा हुई, बैठक मैं भुवन जोशी, एन बी गुणवंत, लीला घर पांडे,शोभा बिष्ट,कमल जोशी,हेम पाठक,गोपाल बिष्ट,वीरेंद्र गुप्ता,नवीन शर्मा,मधु सांगुड़ी,पुष्पा संबल,शुशील भट्ट, प्रताप चौहान,विनय कुमार आर्या,भूपेंद्र सिंह पांगती, गोविंद बगड़वाल, बी डी पाठक, आनंद सिंह थठोला,पुष्पा नेगी,आदि सामिल थे,

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
यह भी पढ़ें 👉  अल्मोड़ा: सोमेश्वर के यमन बने भारतीय नौसेना में ऑफिसर, आप भी दीजिए बधाई
अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

[wp-post-author]

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments