(फादर्स-डे ) सपने तो मेरे थे पर उनको पूरा किये जा रहे थे मेरे पापा

खबर शेयर करें
  • 2
    Shares

मेरी छोटी सी खुशी के लिए सब कुछ सहन कर जाते है मेरे पापा ।

ankur motors ad

पापा आप मेरा वो गुरुर हैं जो कोई भी कभी भी नही तोड सकता ।

सपने तो मेरे थे पर उनको पूरा किये जा रहे थे मेरे पापा।

मुझे रख दिया छाँव में खुद जलते रहे धूप में, मैने देखा है एक फरिस्ता अपने पापा के रूप में।

बेमतलब सी दुनिया में वो ही हमारी शान है, किसी भी शख्स के वजूद की, पिता ही पहली पहचान है।

करे हैं जिन्होनें हमारे सपने साकार, सम्मान करें हर पिता का हर बार ।

प्रार्थ्ंना है मेरी इस कलयुग की पीडी को, दुख और दर्द ना दें अपने पिता को।

परमात्मा का ही दुसरा रूप पिता है।

guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x