Shemford School Haldwani
ढाई लाख रुपए खर्च कर उत्तराखंड के इस इलाके से ढूंढ़ी अपनी बिल्ली

उत्तराखंड- बेंगलुरु से आए दंपत्ति ने ढाई लाख रुपए खर्च कर उत्तराखंड के इस इलाके से ढूंढ़ी अपनी बिल्ली

Bansal Sarees & Bansal Jewellers Ad
खबर शेयर करें

उत्तराखंड के नैनीताल में एक पालतू बिल्ली को खोजने में उसके मालिक ने दो लाख से अधिक रुपये की धनराशी खर्च कर दी है । बिल्ली के मालिक ने चार माह पहले खोई बिल्ली को तलाशने के लिए रात दिन एक कर दी । बिल्ली वापस दिलाने वाले ग्रामीण को तोहफा भेंट किया गया ।
जानकारी के अनुसार बेंगलुरु के रहने वाले हर्ष कपूर बीती एक अक्टूबर को अपनी पत्नी भव्या और दो पालतू बिल्लियों को लेकर तीन दिन के लिए नैनीताल घूमने आए थे। हर्ष अपनी दोनों बिल्लियों, लियो और कोको को लेकर हल्द्वानी से नैनीताल रोड में भुजियाघाट के समीप सूर्यागांव में बने एक रिजॉर्ट में रुके।

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून- प्रदेश में अब से बाजार रहेंगे गुलजार, लेकिन ध्यान रहे यह टाइमिंग

यह भी पढ़े 👉 हल्द्वानी- कुमाऊं के सबसे बड़े नगरनिगम हल्द्वानी की साफ सफाई व्यवस्था ठप, यह है कारण

Kisaan Bhog Ata

इस दौरान जब कपूर दंपत्ति ने अपनी दोनों बिल्लियों को रिजॉर्ट के लॉन में स्वतंत्र छोड़ा, तो लियो कुत्ते के डर से जंगल की ओर भाग गई । अपनी बिल्लियों को बेहद प्यार करने वाले कपूर दंपति ने अपनी छुट्टियां बढ़ाकर लियो की आसपास के जंगल में तलाश शुरू की । उन्होंने, बिल्ली को ढूंढने वाले या पता बताने वाले को पांच हजार रुपए का ईमान देने की घोषणा की। लेकिन तमाम गांव वालों और रिजॉर्ट के कर्मियों के प्रयासों के बावजूद लियो नहीं मिल सकी । दंपति मायूस होकर 10 अक्टूबर को बेंगलुरू लौट गए। बेंगलुरु जाकर भी उनका मन अपनी बिल्ली के लिए बेचैन रहा और दम्पति लगातार रिजॉर्ट संचालक से जुड़े लोगों के संपर्क में रहे। इधर 21 जनवरी को किसी ग्रामीण को बिल्ली दिखाई दी।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- यहां पूर्व सैनिक ने की ऐसे पत्नी की हत्या, हत्याकांड से सहमा पूरा गांव

यह भी पढ़े 👉 हल्द्वानी- ‘हरदा हमारा आला दुबारा’ गीत लॉन्च, गीत के माध्यम से कांग्रेसियों ने दिखाई ताकत

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून- UKSSSC भर्ती परीक्षाओं में करने जा रहा यह बदलाव, पढ़ें पूरी खबर

इसकी सूचना कपूर दंपत्ति को दी गई। कपूर दंपत्ति 25 जनवरी को बेंगलुरु से फ्लाइट पकड़कर भुजियाघाट पहुंचे, जहां दो दिन की कड़ी मेहनत के बाद उन्हें आखिरकार 26 जनवरी की रात उनकी बिल्ली लियो जंगल से लगे एक खंडहरनुमा मकान में मिल गई । इससे उन्होंने राहत की सांस ली है। बिल्ली मिलने के बाद कपूर दंपत्ति की खुशयों का ठिकाना नहीं रहा और उन्होंने बिल्ली दिलाने वाले ग्रामीण को इसका तोहफा दिया ।

यह भी पढ़े 👉 हल्द्वानी- नेता प्रतिपक्ष इंदिरा ह्रदयेश के खिलाफ लड़ूंगी चुनाव: भावना पांडेय

अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments