Aknur Motors, Bindukhatta

उधम सिंह नगर वासियों को करोड़ो की सौगात दे गए मुख्यमंत्री रावत, और कही यह बड़ी बात

Bansal Jewellers
खबर शेयर करें
  • 31
    Shares

रूद्रपुर – प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत आज जनपद दौरे पर पहुंक कर सहकारिता विभाग द्वारा आयोजित दीनदयाल उपाध्याय सहकारिता किसाना कल्याण योजना के तीसरे चरण का दीप प्रज्जलित कर शुभारम्भ किया। कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि के रूप में पहंुच कर मंत्रोच्चारण के साथ 43 विभिन्न विकास योजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण किया। जिसके तहत 2578.74 लाख की योजनाओ का लोकार्पण व 9444.77 लाख की योजनाओं का शिलान्यास किया। मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम स्थल पर विभिन्न विभागों द्वारा लगाये गये स्टांलो का भी निरीक्षण किया। कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री ने 19 किसानों को दीनदयाल उपाध्याय किसान कल्याण योजना के अन्तर्गत तीन-तीन लाख का बिना ब्याज का ऋण व तीन किसानों को कृषि यंत्र दिये।

ankur motors ad

यह भी पढ़ें👉 BREAKING NEWS- कोरोना से 8 लोगों की मौत, जानिए अपने इलाके का हाल

उन्होने जिन किसानों को बिना ब्याज तीन-तीन लाख के ऋण वितर किये उन किसानों को बधाई दी। उन्होने कहा कि प्रदेश सरकार किसानों की आय किस प्रकार से दोगुनी हो इस पर लगातार कार्य कर रही है ताकि हमारे प्रदेश के किसानों का जीवन स्तर सुधरे व एक अलग पहचान उत्तराखण्ड के किसानों को प्रदेश ही नही देश स्तर पर मिले। उन्होने कहा कि किसानों के लिये शीघ्र ही और योजना सरकार द्वारा प्रारम्भ की जायेगी। उन्होने कहा कि इससे पहले सरकार ने किसानो के लिये दो प्रतिशत ब्याज पर ऋण देने की शुरूआत की थी जिसमे हजारों किसानों को लाभ मिला। उन्होने कहा कि किसान यदि इस ऋण का सददुपयोग करेगें तो भविष्य में इस योजना पर सरकार और बिचार करेगी। उन्होने कहा किसाना हमे यदि प्रोत्साहित करेगें तो हम इस पर और आगे विचार करेगें। उन्होने कहा कि प्रदेश सरकार समूहों के लिये पांच लाख तक का ऋण बिना ब्याज का देना शुरू किया है और आज जब सरकार चैथे वर्ष में प्रवेश कर रही है तो बिना ब्यान के तीन लाख रूपये तक ऋण वितरण के कार्य का शुभारम्भ किया गया। उन्होने कहा जहां हमारे सामने विशेष परिस्थियां कोविड-19 के कारण तमाम अर्थ व्यवस्थाएं लडखडायी है।

यह भी पढ़ें👉 उत्तराखंड- यहां सड़क पर शिकार कर खाता रहा गुलदार, रुकी रही राहगीरों की सांसे

उन्होने कहा कि आज कई देशो में 75 प्रतिशत तक बेरोजगारी बडी है, ऐसे में हमारे प्रदेश के किसानों ने जो काम करके दिखाया है जिससे हमारी उत्पादकता व उत्पादन भी बडी है। उन्होने कहा कि पिछले दो वर्षो में इस राज्य को कृषि कर्मा अवार्ड भी मिला है। यह सौभाग्य हमारे किसानों द्वारा अच्छे कार्य करने पर ही मिला है, यदि हमारे किसान कृषि के क्षेत्र में अच्छा काम नही करते तो यह अवार्ड नही मिल पाता। जिसके लिये प्रदेश के किसानो व कृषि मंत्री को बधाई दी। उन्होने कहा कि किसानो द्वारा जो रिकार्ड उत्पादन किया गया है उनका भुगतान भी प्रदेश सरकार द्वारा समय पर किया जा रहा है। आज देश का मात्र एक प्रदेश हमारा है जहां पर गन्ना किसानों का समय पूर्व सतप्रतिशत भुगतान किया है। उन्होने कहा कि उत्तराखण्ड में 250 करोड प्रोवेजन फंड रखा गया है। उन्होने कहा कि सरकार की मंशा किसानों को समय पर उनके उत्पाद का भुगतान मिले ताकि किसानों को किसी भी प्रकार की समस्या उत्पन्न न हो।

यह भी पढ़ें👉 बेतालघाट- कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य और विधायक संजीव आर्य ने करोड़ों की योजनाओं की दी सौगात, ऐसे सुनियोजित तरीके से होगा नैनीताल का विकास

उन्होने कहा कि इस विपरित परिस्थियों में भी सरकार ने किसानों का भुगतान करके दिखाया है। उन्होने कहा पहले हमारे पास धान खरीद हेतु लगभग 195 क्रय केन्द्र थे और आज 242 धान क्रय केन्द्र हमने खोले गये है व भारत सरकार द्वारा 10 लाख मिट्रिटन धान खरीदने का लक्ष्य मिला था और जो हमने पुरा कर लिया है। उन्होने कहा कि प्रदेश के किसानों का शेष भुगतान एक सप्ताह के भीतर सरकार कर देगी। उन्होने कहा कि हम अपने किसानों को समय पर भुगतान करना चाहते है लेकिन कुछ लोगों द्वारा हमारे भोले-भाले किसानो को गुमराह कर बाहरी लोग हमारे किसानों का नाम लेकर लाभ उठा रहे है। जिसके लिये कमिश्नर कुमांउ मण्डल, जिलाधिकारी को इस ओर ध्यान देने के निर्देश दिये है। उन्होने कहा कि उधमसिंह नगर व चम्पावत में कुछ धान क्रय किया जाना है उस पर सम्बन्धित विभाग के अधिकारी संज्ञान लेकर आवश्यक कार्यवाही करें। उन्होने कहा कि हमारे किसानों का कही दुरूपयोग तो नही कर रहे इस पर ध्यान दें। उन्होने कहा कि आज राज्य सरकार ने कृषि, शिक्षा, स्वास्थ्य, पानी के क्षेत्र में भी विपरित परिस्थितियों में अनेक निर्णय लिये है। उन्होने कहा कि प्रदेश सरकार पूरे प्रदेश में मात्र एक रूपये में पानी का कनेशसन देने का निर्णय लिया है यह सपना देश के मा0 प्रधानमंत्री का है कि 2024 तक प्रत्येक घर को पेयजल कनेक्शन से जोडा जायेगा।

यह भी पढ़ें👉 हल्द्वानी- (बड़ी खबर) वोटर आईडी बनाने सहित करने हैं बदलाव तो काम की खबर, इस दिन तक है मौका

उन्होने कहा कि प्रदेश के प्रत्येक घर में 2022 तक शुद्ध पानी पहुंचाने का है। उन्होने कहा कि देहरादून, बागेश्वर के प्रत्येक घर में जो लक्ष्य रखा गया है उसे माह दिसम्बर,2020 तक पूर्ण कर लिया जायेगा। उन्होने कहा सरकार आमजन के साथ अपने दायित्व का मिल कर काम कर रही है। उन्होने कहा प्रदेश सरकार राज्य में भ्रष्टाचार मुक्त बनाने के लिये प्रतिबद्ध है जिससे लिये जीरो टाॅलरेन्स के तहत कार्य किया जा रहा है। उन्होने कहा कि भ्रष्टाचार में जो लोग संलिप्त है उनके खिलाफ आवश्यक कार्यवाही की जा रही। उन्होने कहा कि भ्रष्टाचार एक दीमक की भांति है इसे खत्म कराना बहुत जरूरी है। उन्होने कहा उधमसिंह नगर में 10819 कास्कारों को भूमिधरी का अधिकार दिया है और अभी 47630 कास्कारों को भूमिधरी अधिकार देना शेष है जिसकी प्रक्रिया चल रही है। उन्होने कहा कि स्वामित्व योजना के अन्तर्गत प्रदेश के सभी जनपदो को लिया गया है, जिसके तहत उधमसिंह नगर में 534 गांवो के 57165 लोग अभी तक लाभान्वित हो चुके है व 6619 स्वामित्व प्रमाण पत्र वितरित किये जा चुकंे।

यह भी पढ़ें👉 हल्द्वानी- सरकारी कर्मचारियों, पेंशनरों और उनके आश्रितों का यहां बनेगा गोल्डन कार्ड

उन्होने कहा कि प्रदेश के देहरादून व पंतनगर के एयरपोर्ट को अन्तराष्ट्रीय तर्ज पर बनाया जायेगा वही 11 सौ एकड भूमि में ग्रीन एयरपोर्ट की तर्ज पर बनाया जायेगा यह एयरपोर्ट इन्टरनेशनल एयरपोर्ट होगा। जो भारत को ही नही बल्किी उधमसिंह नगर को भी पूरी दूनियां को जोडेगा, जिससे यहा का चहुमुखी विकास होगा व अपार रोजगार की सम्भावनाएंे बढेगी। उन्होने कहा कि स्वास्थ्य के क्षेत्र में उधमसिंह नगर, हरिद्वार, पिथौरागढ में मेडिकल कालेजो का निर्माण तेजी से चल रहा है जो शीघ्र ही आम जनता को समर्पित कर दी जायेगी। उन्होने कहा कि यह देश का पहला राज्य है जहा सरकार ने अटल आयुष्मान योजना के तहत प्रत्येक उत्तराखण्ड वासियों को पांच लाख तक का स्वास्थ सुरक्षा कवच देने का काम किया है। उन्होने कहा कि ईलाज करने हेतु अब तक 123 अस्पताल अनुबन्ध थे जो आज लगभग 22 हजार अस्पताल अनुबन्धित है। जिसमे आज उत्तराखण्ड वासी अपने स्वास्थ गोल्डन कार्ड के तहत ईलाज करा सकता है।

यह भी पढ़ें👉 उत्तराखंड- अस्पतालों की स्वास्थ्य सेवाओं से हो परेशानी तो सीधे डायल करें यह नंबर


इस अवसर पर सहकारिता मंत्री धन सिंह रावत ने अपने विभाग से सम्बन्धित विभिन्न योजनाओ की जानकारी दी। उन्होने मुख्यमंत्री का अभार जताते हुये कहा कि आज जो पं0 दीनदयाल सहकारिता किसान कल्याण योजना का शुभारम्भ हेतु उधमसिंह जनपद को चुना। अजय भट्ट ने अपने सम्बोधन में कहा कि सरकार निरंतर प्रदेश को आगे बढाने के लिये लगातार कार्य कर रही है। उन्होने कहा कि कोरोना काल में भी सरकार ने कई अहम फैसले लिये है जो प्रदेश के लिये लाभकारी है।कार्यक्रम के उपरांत सहकारिता विभाग के पूर्व अध्यक्ष स्व0 नरेन्द्र सिंह मानस के निधन पर दो मिनट का मौन रखकर श्रंद्धाजलि दी गयी।

यह भी पढ़ें👉 उत्तराखंड- भोजनमाताओ के लिए अच्छी खबर, सरकार ने जारी किया ये बजट

guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x