Shemford School Haldwani
लीवर एवं पैंक्रियाज, भोजन नली, पेट के कैंसर तथा लीवर और पैनक्रियाज संबंधी

हल्द्वानी- हल्द्वानी के इस हॉस्पिटल में गैस्ट्रो एवं लीवर की बीमारियों का होगा समाधान, इस दिन बैठेंगे दिल्ली के डाक्टर

Bansal Sarees & Bansal Jewellers Ad
Advertisement
खबर शेयर करें

हल्द्वानी- बीएलके सुपर स्पेशियल्टी हॉस्पिटल ने आज हल्द्वानी में अपना पहला गैस्ट्रो एवं लीवर क्लिनिक खोला। यह क्लिनिक शहर के सेंट्रल हॉस्पिटल के साथ भागीदारी से खोला गया है। मरीजों को अच्छी स्वास्थ्य सेवाएं हासिल करने में सक्षम बनाने की दिशा में अस्पताल की ओर से बढ़ाया गया यह एक और मरीज—हितकारी कदम है। यहां लिवर ट्रांसप्लांट के लिए विशेषज्ञों की सलाह और इलाज के अलावा लीवर एवं पैंक्रियाज, भोजन नली, पेट के कैंसर तथा लीवर और पैनक्रियाज संबंधी सभी बीमारियों के इलाज और परामर्श की सुविधा उपलब्ध रहेगी।

यह भी पढ़े 👉हल्द्वानी- सांसद अजय भट्ट ने इस युवा नेता को दी यह बड़ी जिम्मेदारी

ओपीडी सेवाएं बीएलके सुपर स्पेशियल्टी हॉस्पिटल के प्रमुख गैस्ट्रोएंटरोलॉजिस्ट तथा हीपैटोलॉजिस्ट डॉ. मानव वधावन द्वारा शुरू की गई हैं। बीएलके इंस्टीट्यूट फॉर डायजेस्टिव एंड लीवर डिजीज में गैस्ट्रोइंटरोलॉजी एवं हीपैटोलॉजी के वरिष्ठ निदेशक डॉ. वधावन एचबीवी संबंधी लीवर ट्रांसप्लांट में एचबीआई मुक्त आहार नियम के विकास के लिए जाने जाते हैं और इस व्यवस्था में उन्होंने कठिन बिलियरी बाध्यताओं को खत्म करने के लिए कई तकनीकें ईजाद की हैं। वह परामर्श देने के लिए अपनी टीम के साथ महीने में एक बार इस ओपीडी में आएंगे और मरीजों को अत्याधुनिक समग्र डायजेस्टिव एवं बिलियरी केयर प्रदान करेंगे।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी-(राहत) इन वाहनों के लिए खुला रानीबाग- भीमताल पुल

यह भी पढ़े 👉देहरादून- (बड़ी खबर) इस तारीख से शुरू होगा नया शिक्षण सत्र, देखिए आदेश

इस मौके पर मानव वधावन ने कहा, ‘बदलते लाइफस्टाइल, व्यायामरहित आदतों, खानपान की बदलती आदतों, पेस्टिसाइड और मिलावटी खाद्य पदार्थों का अधिक इस्तेमाल के कारण हम फैटी लीवर, लीवर सिरोसिस, हेपेटाइटिस सी, जीईआरडी, पैनक्रियाटिक रोग आदि जैसी कई बीमारियों के मामले बढ़ते देख रहे हैं। साथ ही जीआई ट्रैक्ट, पैनक्रियाट्रिक प्रणाली और लीवर के कैंसर के मामले भी तेजी से बढ़े हैं। लिहाजा इस बारे में आम लोगों को शिक्षित करना बहुत जरूरी हो गया है कि वे इससे अधिक सतर्क रहें और बचावकारी कदम उठाते रहें। यह ओपीडी क्रोनिक हेपेटाइटिस बी, क्रोनिक हेपेटाइटिस सी, अल्कोहलिक लीवर रोग तथा आॅटोइम्युन डिसआॅर्डर आदि जैसी लीवर और गैस्ट्रो संबंधी बीमारियों की जांच सुविधा भी देगी। मरीजों को जांच कराने और हेपैटो—पैनक्रिएटो—बिलियरी तथा गैस्ट्रोइंटेसटाइनल डिसआॅर्डर के बारे में विशेषज्ञों के मूल्यांकन से भी तत्काल लाभ मिलेगा।’

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- रुक नहीं रहा दुर्घटनाओं का सिलसिला, अब यहां गिरा कार के ऊपर बोल्डर

यह भी पढ़े 👉नैनीताल- DM धीराज सिंह ने होली की दी बधाई, साथ ही बताया यह तरीका

सेंट्रल हॉस्पिटल के निदेशक डॉ. संजय जुयाल ने कहा, ‘डायजेस्टिव एवं लीवर रोगों के मामले में देश के एक बेहतरीन केंद्र के साथ भागीदारी करते हुए यह ओपीडी सेवा शुरू करने को लेकर हम वाकई खुश हैं और ज्यादा से ज्यादा मरीजों की जान बचाने की अपेक्षा करते हैं। हम आम आदमी को डायजेस्टिव और लीवर संबंधी समस्याओं के बारे में जरूरी जानकारी बताने का प्रयास करते हैं और हमारी ओपीडी लोगों को स्वस्थ लाइफस्टाइल जीने के लिए परामर्श भी देगी और प्रोत्साहित भी करेगी। देश में गैस्ट्रोइंटेसटाइनल और लीवर रोगों के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। मरीजों को इन बीमारियों के इलाज के लिए महानगरों का ही रुख करना पड़ता है। यह ओपीडी हल्द्वानी और आसपास के लोगों को विश्व स्तरीय उपचार सुविधाएं प्रदान करेगी। हमारी सेवाओं में सभी तरह के परामर्श और जांच के अलावा इलाज के लिए हर तरह की सेवाएं शामिल होंगी।’

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी- इस कारण बैराज में आत्महत्या करने पहुंचा युवक, कूदने ही वाला था कि...

यह भी पढ़े 👉देहरादून- ऐसे बच्चों की शिक्षा के लिए मदद करेगा बाल कल्याण परिषद, 30 मार्च तक मांगे आवेदन

अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments