Ad
मनीष सिसोदिया

हल्द्वानी- 21 सालों के टूटे सपने 21 महीनों में करेंगे पूरे: मनीष सिसोदिया

खबर शेयर करें

हल्द्वानी- आज दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने हल्द्वानी पहुंचकर रामलीला मैदान में जनसभा को संबोधित किया। देर शाम हल्द्वानी पहुंचे मनीष सिसोदिया इससे पहले लालकुआ के एक सरकारी स्कूल के निरीक्षण पर गए जहां स्कूल के हालात को देखकर उन्होंने उत्तराखंड के स्कूल के हालतपर अफसोस जताया ।

इसके बाद वो हल्द्वानी के रामलीला मैदान में मौजूद भीड़ के बीच पहुंचे और जनसभा को संबोधित किया। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने वहां मौजूद भीड़ को भाइयों बहनों और बुजुर्गों को नमस्कार,से संबोधन शुरू किया। इसके बाद उन्होंने कहा, इतनी बड़ी संख्या में यहां मौजूद भीड़ ये बताने के लिए काफी है कि आने वाले समय में कांग्रेस बीजेपी की राजनीति का सफाया होने का साफ संकेत दिखाई दे रहा है। उन्होंने कहा,यहां मौजूद आप के कई नेताओं कार्यकर्ताओं ने यहां पर आप को मजबूत करने का काम किया जिसकी वजह है कि आज यहां इतनी भीड़ मौजूद है जो उत्तराखंड की राजनीति में परिवर्तन करने को तैयार है।इसके लिए उन्होंने मौजूद सभी लोगों का शुक्रिया अदा किया और आप नेताओं और कार्यकर्ताओं को बधाई दी।

एयरपोर्ट से आते हुए लालकुआ में स्कूल के निरीक्षण पर कहा,21 वी सदी में ऐसा स्कूल,यहां के बच्चों के साथ धोखा है

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने अपने संबोधन में कहा,जब मैं एयरपोर्ट से यहां आ रहा था तो रास्ते में उत्तराखंड के सरकारी स्कूल के मां सरस्वती के प्रांगण में रुका। जब मैं अंदर पहुंचा तो मैंने कल्पना भी नहीं की थी इतना खराब स्कूल देखने को मिलेगा इससे खराब स्कूल मैंने अपनी जिंदगी में नहीं देखा। वहां पर दो छोटे छोटे कमरे बने हैं जिनमें एक में प्रिंसिपल बैठते हैं। टीन की शेड बनाकर ईंट की कच्ची दीवार बना दी और वहीं कक्षा 1, 2, 3, 4 लिखकर ,बच्चे जमीन पर बैठकर पढ़ते हैं। उन्होंने कहा, उत्तराखंड के बच्चे का भविष्य यहां की सरकारों द्वारा बर्बाद किया जा रहा है । ये सरकार बड़े-बड़े दावे करते हैं । हमने इतने काम कर दिए, अखबारों में विज्ञापन देते हैं । अगर उत्तराखंड के स्कूल के बच्चों के लिए स्कूल ना बना पाए तो,इनको डूब मरना चाहिए। इन्होंने उत्तराखंड के बच्चों के भविष्य के लिए कोई काम नहीं किया।

दिल्ली में भी सरकारी स्कूलों के हालात ऐसे थे,केजरीवाल सरकार की नियत से सब बदल गया,यहां भी बदलेगा

उन्होंने कहा,जब हम दिल्ली में सरकार में आए थे, तो दिल्ली के सरकारी स्कूलों की हालत भी लगभग ऐसी थी । लेकिन अरविंद केजरीवाल जी ने काम करने की नियत से सरकार चलाई तो, 5 साल में दिल्ली के सरकारी स्कूल कहां से कहां पहुंच गए,ये आप सब जानते हैं । आज प्राइवेट स्कूलों से लोग दिल्ली के सरकारी स्कूलों में बच्चों को डाल रहे हैं। पिछले 21 सालों में बीजेपी और कांग्रेस के राज में एक भी स्कूल ठीक नहीं हुआ जबकि केजरीवाल ने 5 साल में दिल्ली के सभी स्कूल ठीक कर दिए। उन्होंने कहा,अगर दिल्ली में स्कूल ठीक हो सकते हैं तो उत्तराखंड में क्यों नहीं हो सकते हैं। उन्होंने कहा ये बीजेपी और कांग्रेस के नेताओं की साजिश है । उत्तराखंड के बच्चों के खिलाफ,बीजेपी और कांग्रेस के लोग साजिश करते रहे,जानबूझकर कर। उनको पता है अगर यह बच्चा अच्छा पढ़ गया तो सवाल पूछेंगे ,आंखों में आंखें डाल कर पूछेंगे ,बताओ हमारे हक का हिस्सा कहां है। ये नेता आपके बच्चों के हक की चोरी करते हैं इसलिए आपको बच्चों को पढ़ने नहीं देना चाहते।

उत्तराखंड की जनता के पास विकल्प,जनता के एक एक वोट से बनेगा उत्तराखंड का एक एक स्कूल बेहतर

उन्होंने कहा,आज उत्तराखंड की जनता के पास विकल्प है । अब उत्तराखंड का एक-एक स्कूल उत्तराखंड के लोगों के एक-एक वोट से बनेगा। आप लोगों की ताकत से बनेगा । अगर दिल्ली में ये हो सकता तो उत्तराखंड में क्यों नहीं । दिल्ली में कुछ काम करना हो तो एलजी के पास जाना पड़ता जबकि यहां ऐसा कुछ नहीं है। दिल्ली में स्कूल में टीचर भी लगाना होता तो, फाइल एलजी के पास जाती है ।

दोनों दलों को देख लिया,अबकी बार स्कूल के नाम पर पड़ेंगे एक एक वोट

मनीष सिसोदिया ने कहा,जनता ने इन दोनों दलों को देख लिया है। वोट मांगने आए तो कहना, इस बार तुमको भी देख लिया तुमको भी देख लिया,अबकी वोट मांगने आए तो कहना इस बार वोट तो स्कूल के नाम पर पड़ेगा । ना कांग्रेस का नाम पर,ना बीजेपी के नाम पर पड़ेगा । इस बार का वोट स्कूल के नाम पर पड़ेगा । उन्होंने कहा,बात केवल स्कूलों की नहीं है । इन्होंने हर चीज में उत्तराखंड को बर्बाद किया। अगर दिल्ली में 24 घंटे सस्ती बिजली, फ्री बिजली मिल सकती है तो उत्तराखंड में क्यों नहीं । अगर दिल्ली सरकार लाखों युवाओं को रोजगार दे सकती है 17000 टीचर भर्ती कर सकती है तो उत्तराखंड में भी कर सकती है।

21 साल में बीजेपी कांग्रेस ने प्रदेश को बदहाल कर दिया, आप बेहतर विकल्प,हमने दिल्ली में करके दिखाया,उत्तराखंड में भी हो सकता है

उन्होंने कहा,बीजेपी कांग्रेस की सरकारों ने पिछले 21 सालों में कोई काम नहीं किया । अगर इन्होंने कोई काम किया होता तो 21 साल पहले पैदा हुआ बच्चा आज अपने रोजगार से उत्तराखंड को संवार रहा होता,रोजगार दे रहा होता। मुझे आज बड़ा दुख हो रहा कि, उत्तराखंड के युवाओं के साथ इन्होंने गद्दारी की है । इन सरकारों ने उत्तराखंड की जनता को बिजली में धोखा दिया, रोजगार में धोखा दिया, ट्रांसपोर्ट में धोखा दिया, दिल्ली में महिलाओं के लिए बस फ्री हो सकती है, तो उत्तराखंड में क्यों नहीं हो सकती है।

अरविंद केजरीवाल जो कहते हैं वो करते हैं

उन्होंने कहा, केजरीवाल ने चार गारंटी उत्तराखंड की जनता को दी और सभी लोग जानते हैं कि केजरीवाल जो कहते हैं वो करते हैं । उन्होंने मुफ्त बिजली की बात की,युवाओं को रोजगार की बात की ,बेरोजगारी भत्ता की बात की। महिलाओं को 1000 रुपए महीना देने की बात कही और ये सभी पूरी होंगी। उन्होंने कहा,दिल्ली में जब हमने कहा,लोग मजाक समझते थे। हमने करके दिखाया । अब उत्तराखंड की बारी है ।जो
21 सालों में नहीं हुआ,वह अरविंद केजरीवाल जी और कर्नल कोठियाल के नेतृत्व में 21 महीनों में होगा

Ad
अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments