Shemford School Haldwani

हल्द्वानी- सुशीला तिवारी में ब्लैक फंगस के 22 मरीज भर्ती, ये रही अपडेट

Bansal Sarees & Bansal Jewellers Ad
खबर शेयर करें

हल्द्वानी- डा0 सुशीला तिवारी राजकीय चिकित्सालय में कोविड मरीजों के उपचार के साथ -साथ म्यूकोरमाइकोसिस (ब्लैक फंगस) के मरीजों का भी सफलता पूर्वक ईलाज किया जा रहा है। चिकित्सालय में ब्लैक फंगस के 29 मरीज वर्तमान तक भर्ती हो चुके है जिसमें से 11 के ऑपरेशन हो गये है। डा0 सुशीला तिवारी राजकीय चिकित्सालय में वर्तमान में 22 रोगी भर्ती है, जिनका वरिष्ठ चिकित्सकों की निगरानी मे ईलाज चल रहा है। चिकित्सकों द्वारा ऐसे रोगी जिनको ऑपरेशन की आवश्यकता है उनकी समस्त जॉच उपरांत ऑपरेशन भी किया जा रहा है। चिकित्सालय में ब्लैक फंगस के आने वाले रोगी अधिकतर ऊधमसिंह नगर के है बाकि अन्य जिले के है। अभी कुछ दिन पूर्व ब्लैक फंगस के एक गंभीर रोगी का चिकित्सकों द्वारा सफल ऑपरेशन किया गया था जो अब स्वस्थ होने के उपरांत कल चिकित्सालय से डिस्चार्ज होकर चला गया है।ऐसे ब्लैक फंगस के रोगी जो अत्यधिक गंभीर हालत में चिकित्सालय में भर्ती हुए थे उनमें से अभी तक 05 की मृत्यु हो चुकी है।

यह भी पढ़ें 👉  Breaking News- राज्य में अब 2964 एक्टिव केस, देखिए हेल्थ बुलेटिन, जाने अपने इलाके का हाल
यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: (Good News)-प्रदेश के करीब 23.80 लाख राशनकार्डधारकों मिलेगा ये खास फायदा, केन्द्र से मिली अनुमति


प्राचार्य डा0 सी0पी0 भैसोड़ा ने बताया कि डा0 सुशीला तिवारी राजकीय चिकित्सालय में ब्लैक फंगस के रोगियों का ईलाज वरिष्ठ चिकित्सकों की निगरानी में बहुत अच्छे व सफलतापूर्वक किया जा रहा है। नेत्र रोग विभाग, ई0एन0टी0 विभाग, एनेस्थिीसिया विभाग तथा मेडिसिन विभाग के वरिष्ठ चिकित्सकों द्वारा ब्लैक फंगस का ईलाज व ऑपरेशन किया जा रहा है तथा चिकित्सालय में ब्लैक फंगस की दवाई एम्फोटेरेसिन-बी इंजेक्शन की बिल्कुल भी कमी नही है। जनरल मेडिसिन के चिकित्सकों द्वारा रोगी के रोग के हिसाब से दवा की मात्रा तय करके उपयोग में लायी जा रही है तथा उम्मीद है कि भर्ती ब्लैक फंगस के मरीज जल्दी स्वस्थ हो जाने पर डिस्चार्ज कर दिये जायेंगे।

Kisaan Bhog Ata
अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments