Ad

उत्तराखंड- देवभूमि की बेटी मॉस्को में सिखाएगी कत्थक, ऐसे किया नाम ऊँचा

Ad - Bansal Jewellers
खबर शेयर करें

नैनीताल- हल्द्वानी की बेटी शिप्रा जोशी जल्द ही रूस की राजधानी मास्को में अपने कत्थक कला का प्रदर्शन करने के साथ वहां इस नृत्य को सीखने वालों को भी प्रशिक्षण देंगी। विदेश मंत्रालय के अधीन इंडियन काउंसिल फॉर कल्चरल रिलेशंस ( ICCR ) की ओर से उनका चयन अध्यापक एवं सह कलाकार के रूप में किया गया है। आगामी 24 अप्रैल को मॉस्को स्थित भारतीय दूतावास में अपना दायित्व संभालेंगी।

DSB कॉलेज नैनीताल से पढ़ी शिप्रा जोशी ने गुरु प्रेरणा श्रीमाली और गुरु नंदनी सिंह से नृत्य की बारीकी सीखी है। कत्थक नृत्य के जयपुर घराने से संबंध रखने वाली शिप्रा जोशी ने कत्थक नृत्य प्रशिक्षण की शुरुआत नूपुर नृत्य कला केंद्र हल्द्वानी में शुरू किया था।

शिप्रा कथक केंद्र नई दिल्ली से परास्नातक है , उन्हें संस्कृति मंत्रालय से स्कॉलरशिप भी हासिल हुई थी। वह दूरदर्शन की एक वरीयता हासिल सूचीबद्ध कलाकार भी हैं। उन्होंने भारत और विदेश में कई प्रतिष्ठित नृत्य उत्सवों में हिस्सा भी ले चुकी है। इनमें कत्थक महोत्सव नई दिल्ली, मल्हार उत्सव उदयपुर , राष्ट्रीय क्लासिकल डांस फेस्टिवल चंडीगढ़ , अरब म्यूजिकल फेस्टिवल अल्जीरिया और राष्ट्रपति भवन में आयोजित कार्यक्रम शामिल हैं। वह स्पिक मैके के प्रदर्शन मॉड्यूल की समूह कलाकार भी हैं।

Ad
Ad
Ad
Ad
यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- यहां पेशाब करने पर टोकना पड़ा महंगा, युवक ने मारी गोली, CCTV
अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

2 Comments
Inline Feedbacks
View all comments