Shemford School Haldwani
एयरपोर्ट निर्माण को जमीन दिए जाने का विरोध शुरू

उधम सिंह नगर- एयरपोर्ट निर्माण को जमीन दिए जाने का विरोध शुरू, कांग्रेस ने दी यह चेतावनी

Bansal Sarees & Bansal Jewellers Ad
खबर शेयर करें

पंतनगर- पंतनगर विवि की उपजाऊ भूमि पर एयरपोर्ट निर्माण के विरोध में कांग्रेस प्रदेश महामंत्री हरीश पनेरू ने शनिवार से पंतनगर सहित आस-पास क्षेत्र में हस्ताक्षर अभियान शुरू करने की घोषणा की है। शुक्रवार को पंतनगर के बड़ी मार्केट में आयोजित बैठक में विचार विमर्श के बाद इस आशय का निर्णय लिया गया है।

यह भी पढ़ें👉 BREAKING NEWS- राज्य में आज कोरोना से 15 की मौत, जानिए अपने इलाके का हाल

Kisaan Bhog Ata

बैठक में पनेरू ने कहा कि प्रदेश सरकार जीबी पंत कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय की कृषि भूमि पर अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट का निर्माण कराने पर आमादा है। जिसके लिए 1072 एकड़ भूमि नागरिक उड्डयन विभाग को हस्तांतरित भी हो चुकी है। जबकि पूर्व में भी सिडकुल सहित अन्य विकास कार्यों के लिए पंत विवि की लगभग साढ़े चार हजार एकड़ उपजाऊ भूमि दी जा चुकी है। यदि इसी प्रकार पंत विवि की भूमि खुर्द-बुर्द की जाती रही, तो आने वाले समय में हरितक्रांति की इस जननी का आस्तित्व ही समाप्त हो जाएगा। उत्तराखंड में कृषि को समृ˜ करना है तो पंत विवि को बर्बाद होने से बचाना ही होगा। जिसके लिए प्रदेश के बु˜िजीवियों को आगे आना ही होगा। इसके विरोध में आवश्यकता पड़ी तो मैं आमरण अनशन करने से भी पीछे नहीं हटूंगा। कहा कि हस्ताक्षर अभियान की शुरूआत शनिवार को पंत विवि के वैज्ञानिकों से की जाएगी। यहां दान सिह नयाल, अनुराधा जोशी, विमला चौहान आदि दर्जनों कांग्रेसी मौजूद थे।

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून- (एक्शन) इस मामले में 15 अधिकारियों और कर्मचारियों का वेतन रोका गया
यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: पॉलीटैक्निक और बीकॉम के छात्र ऐसे करते थे पहाड़ में नशे का कारोबार

यह भी पढ़ें👉 रुद्रपुर- इस पैरा बैडमिंटन खिलाड़ी ने अंतरराष्ट्रीय जगत पर किया नाम रोशन, DM ने सौपा 12 लाख 25 हजार का चैक,दीजिए शुभकामनाएं

हल्दी की ओर हो एयरपोर्ट का विस्तार
पनेरू ने कहा कि पूर्व में बने प्लान-बी के तहत मौजूदा एयरपोर्ट का ही हल्दी की ओर विस्तारीकरण होना चाहिए। इससे जहां टीडीसी को जीर्ण-शीर्ण हो चुके आवासों से छुटकारा मिलेगा, वहीं इससे मिलने वाला मुआवजा टीडीसी के लिए संजीवनी साबित होगा। साथ ही प्रशासन को यहां बसे अवैध कब्जेदारों से भी छुटकारा मिल जाएगा। इससे जहां विवि की भूमि खुर्द-बुर्द होने से बच जाएगी, वहीं मौजूदा एयरपोर्ट का इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रयोग होने से एएआई का करोड़ों रूपए का नुकसान भी बचेगा।

यह भी पढ़ें 👉  Breaking News- आज राज्य में कोरोना के सबसे कम मामले, जानिए अपने इलाके का हाल

यह भी पढ़ें👉 BREAKING NEWS- उत्तराखंड- अंगीठी के धुए से दो युवकों को ऐसे मिली मौत, मचा हड़कंप

अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments