Shemford School Haldwani
उत्तराखंड

उत्तराखंड- उत्तराखंड पीसीएस संघ के अध्यक्ष बने ललित मोहन रयाल, महा अधिवेशन में लिए गए यह फैसले

Bansal Sarees & Bansal Jewellers Ad
Advertisement
खबर शेयर करें
  • 276
    Shares

उत्तराखंड सिविल सेवा (कार्यकारी शाखा ) (उत्तराखंड पीसीएस )संघ का वार्षिक महाधिवेशन सोमवार को मेला नियंत्रण भवन (सी0सी0आर0) में आयोजित किया गया, जिसमें वर्चुअल और भौतिक दोनों तरह से राज्य के पी सी एस अधिकारियों ने प्रतिभाग किया । बैठक में पुरानी कार्य कारिणी को भंग कर नई कार्यकारिणी का गठन किया गया, जिसमें निम्न नामों पर सहमति व्यक्त की गई, जिसमें अध्यक्ष पद पर ललित मोहन रयाल, महासचिव पद पर हरक सिंह रावत, उपाध्यक्ष पद पर डाॅ0 ललित नारायण मिश्र और कुश्म चैहान, सचिव पद पर मनीष कुमार सिंह और दयानंद सरस्वती, संयुक्त सचिव पद पर योगेश मेहरा और श्रीमती ऋचा सिंह के नाम पर सहमति बनी। कोषाध्यक्ष पद पर श्री प्रत्युष सिंह के नाम पर सहमति व्यक्त की गई। संप्रेक्षक पद पर गौरव पांडेय और विधि परामर्शी के रूप में नरेश दुर्गापाल और कौस्तुभ मिश्र के नाम पर सहमति बनी। सांस्कृतिक और आईटी सचिव के रूप में हिमांशु कफल्टिया के नाम पर सहमति बनी।


बैठक में कई एजेंडे पर चर्चा हुई, जिसमें मुख्य रूप से पीसीएस संवर्ग के पदों पर गैर पीसीएस की नियुक्ति का प्रबल विरोध किया गया। पीसीएस संवर्ग के सभी पदों पर पीसीएस संवर्ग की ही तैनाती शीध्र की जाए, इसकी मांग की गई । विभागाध्यक्ष एवं आयोगों के पदों पर सचिवालय सेवा संवर्ग व अन्य कैडर के अधिकारियों की नियुक्ति पर गहरा रोष व्यक्त किया गया। कई वर्षों से कैडर के पुनर्गठन न किए जाने पर भी नाराजगी जाहिर की गई।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी-(राहत) इन वाहनों के लिए खुला रानीबाग- भीमताल पुल


बैठक में उत्तर प्रदेश की तर्ज पर पीसीएस अधिकारियों को निश्चित समयावधि पर निर्धारित वेतनमान दिए जाने की मांग की गई। संघ की बैठक में वित्त सेवा के अधिकारियों को पीसीएस संवर्ग के अधिकारियों से पूर्व उच्चतर वेतनमान दे दिए जाने का प्रबल विरोध किया गया और साथ ही पीसीएस अधिकारियों को शीध्र ही तदननुरूप वेतन देने की मांग की गई।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी- यहां पौने दो साल की मासूम खेलते खेलते ऐसे छत से गिरी, परिजनों में कोहराम


जिलों में तैनात पीसीएस अधिकारियों को नए वाहन उपलब्ध कराने की मांग की गई, जिससे राजकीय कार्य को सुगमतापूर्वक किया जा सके। जिला प्रशासन में तैनात संवर्ग के अधिकारियों को सुरक्षा कर्मी दिए जाने की भी मांग की गई। पुराने भत्ते जो 80 के दशक से रिवाइज नहीं किए गए हैं, उन्हें पुनरीक्षित करने की मांग की गई। 2005 के बाद पीसीएस संवर्ग में नियुक्त अधिकारियों को पुरानी पेंशन योजना का लाभ देने की मांग की गई। हल्द्वानी और देहरादून में पीसीएस अधिकारियों के लिए पूल्ड आवास की मांग संघ द्वारा प्रबलता से उठाई गई।

यह भी पढ़े👉नैनीताल- यहां पैराग्लाइडिंग पायलट और सैलानी लटके पेड़ पर, मच गई ऑफर तफरी


संघ की बैठक में इस बात पर प्रबल रोष था कि राज्य की मूल सर्वोच्च सेवा होने के बाद भी इसे उपेक्षित रखा जा रहा है। बैठक में वंशीधर तिवारी, आलोक पांडेय, हरक सिंह रावत, हंसादत्त पांडे, विनोद गिरि गोस्वामी, डाॅ0 ललित नारायण मिश्र, हरबीर सिंह, रामजी शरण शर्मा, केके मिश्र, अवधेश कुमार सिंह, जयभारत सिंह, मोहम्मद नासिर, जगदीश लाल, किशन सिंह नेगी, मनीष कुमार सिंह, प्रत्युष कुमार सिंह, अब्ज प्रसाद वाजपेयी, अनिल कुमार शुक्ला, गोपाल सिंह चैहान, दयानंद सरस्वती, योगेश सिंह मेहरा आदि पीसीएस अधिकारियों के साथ साथ सभी जनपदों से अधिकारी वर्चुअल माध्यम से मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें 👉  Breaking News- UKSSSC ने जारी किया सहायक अध्यापक एलटी के परीक्षा को लेकर बड़ा अपडेट

यह भी पढ़े👉उत्तराखंड- यहां हादसे का शिकार हो गई प्रवासियों की कार, दो की मौत

यह भी पढ़े👉उत्तराखंड- पहाड़ के इन दो युवाओं ने हिमालय की इस चोटी को किया फतह

यह भी पढ़े👉बड़ी खबर- उत्तराखंड में अब बिना नेगेटिव रिपोर्ट के नहीं मिलेगी एंट्री, शिक्षण संस्थान भी बंद करने के निर्देश

यह भी पढ़े👉BREAKING NEWS- कोरोना के टेंशन के बीच अच्छी खबर, 18 से ऊपर के उम्र के लोगों को इस तारीख से लगेगी वैक्सीन

अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments