Shemford School Haldwani
ऐतिहासिक उत्तरायणी मेले को लेकर हुई बैठक

बागेश्वर- ऐतिहासिक उत्तरायणी मेले को लेकर हुई बैठक, इस बार ऐसे मनाया जाएगा मेला

Bansal Sarees & Bansal Jewellers Ad
खबर शेयर करें

बागेश्वर में आयोजित होने वाला धार्मिक, पौराणिक एवं ऐतिहासिक उत्तरायणी मेला-2021 के आयोजन के लिए की जाने वाली तैयारियों के संबंध में जिलाधिकारी विनीत कुमार की अध्यक्षता में तहसील सभागार में बैठक आयोजित की गयी, जिसमें अध्यक्ष नगर पालिका बागेश्वर सुरेश खेतवाल, पुलिस अधीक्षक मणिकांत मिश्रा सहित वरिष्ठ नागरिक एवं जनप्रतिनिधि व जिला स्तरीय अधिकारियों ने प्रतिभाग किया।

हल्द्वानी- (अभी-अभी) इस इलाके में 1581 घरों को 15 दिन के भीतर खाली करने का नोटिस, मचा हड़कंप

Kisaan Bhog Ata


बैठक की अध्यक्षता करते हुए जिलाधिकारी विनीत कुमार ने कहा कि वर्तमान समय में कोरोना संक्रमण के चलते जो भी धार्मिक गतिविधियां संचालित की जानी हैं वे स्वास्थ्य मंत्रालय भारत सरकार के दिशा निर्देशों के अनुसार ही किये जाने हैं, जिसमें सभी नियमों का कडार्इ से पालन किया जाना अनिवार्य है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के कारण इस बार का उत्तरायणी मेला विगत वर्षो की भांति उस भव्य स्वरूप में आयोजित नहीं होगा इसमें केवल धार्मिक अनुष्ठान के साथ गंगा स्नान व जनेऊ संस्कार ही चिन्हित स्थानों पर ही किये जा सकेगे तथा इस बार मेले में कोर्इ भी सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं व्यापारिक गतिविधियां तथा विकास प्रदर्शनी स्टॉल आदि नहीं लगायें जायेगे।

यह भी पढ़ें👉 हल्द्वानी- पुलिस ने ऐसे शातिर ठगों को किया गिरफ्तार जो दुकानदारों को लगाते थे चूना, खुलासे में सामने आई कहानी

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- यहां पूर्व सैनिक ने की ऐसे पत्नी की हत्या, हत्याकांड से सहमा पूरा गांव


बैठक में जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दियें कि उत्तरायणी मेले में आयोजित होने वाले धार्मिक अनुष्ठान के लिए सभी व्यापक व्यवस्थायें समय से सुनिश्चित की जाय। उन्होने सरयू घाट एवं सूरजकुण्ड एवं मंदिरों एवं के मुख्य चौराहों को विद्युत मालाओं से प्रकाशमान करने के निर्देश दिये। इसके साथ ही सभी घाटों की साफ-सफार्इ व्यवस्था एवं अस्थार्इ शौचालय की व्यवस्था करने हेतु नगर पालिका, नगर पंचायत एवं सिंचार्इ विभाग को समय से करने के निर्देश दियें। उत्तरायणी मेले के अवसर पर मुख्य चौराहों/मार्गो पर स्थान चिन्हित कर वहां से आने वाले लोगो की थर्मल स्क्रींनिंग करने, उन्हें अनिवार्य रूप से मॉस्क एवं सोशल डिस्टेसिंग का पालन कराने, सैनेटार्इजेशन तथा हाथ धोने के लिए व्यवस्था पूर्ण करने के निर्देश दिये तथा इसके साथ ही जल संस्थान को मुख्य स्थानों एवं मोबार्इल शौचालय में पेयजल आपूर्ति समय से करने के निर्देश दिये। इसके साथ ही मुख्य स्थानों एवं चौराहों पर अलाव जलाने की व्यवस्था भी सुनिश्चित की जाय।

यह भी पढ़ें👉 देहरादून- गणतंत्र दिवस की परेड में शामिल होगा देवभूमि का अभिषेक

उन्होने पुलिस विभाग को भी निर्देश दियें कि शांति एवं यातायात व्यवस्था बनायें रखने के लिए सभी आवश्यक व्यवस्थायें सुनिश्चित की जाय तथा मुख्य स्थानों पर सीसी टीवी कैमरे की व्यवस्था सुनिश्चित की जाय। जिलाधिकारी ने बैठक में उपस्थित सभी जनप्रतिनिधियों से अपेक्षा की हैं कि मेले मे आने वाले लोगो को जागरूक करने के लिए सभी का सहयेाग जरूरी है, इसलिए वे भी अपने स्तर से आने वाले लोगो को सोशल डिस्टेसिंग, मॉस्क का प्रयेाग करने तथा सेनेटार्इजेशन का उपयोग करने को प्रेरित करें।

यह भी पढ़ें 👉  Breaking News- राज्य में अब 2964 एक्टिव केस, देखिए हेल्थ बुलेटिन, जाने अपने इलाके का हाल

यह भी पढ़ें👉 उत्तराखंड- लगातार दूसरे दिन राज्य के इस जिले में भूकंप के झटके, मची अफरा-तफरी


बैठक में तय किया गया है कि उत्तरायणी मेले के शुभारम्भ के अवसर पर कोविड सत्यग्रह एवं कुलीबैगारी प्रथा को 100 वर्ष को पूर्ण होने पर रैली का आयोजन किया जाय जिसमें सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए सभी आवश्यक व्यवस्थायें सुनिश्चित की जाय जिसमें नुक्कड़ नाटक के माध्यम से लोगों को जागरूक किया जाय, तथा इसके लिए जो भी व्यवस्थायें की जानी है उन्हें समय से पूर्ण की जाय। उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिये है कि मेले में आवश्यक स्वस्थ्य व्यवस्थायें सुनिश्चित की जाय जिसमें सभी डॉक्टरों की टीम सहित सभी आवश्यक व्यवस्थायें सुनिश्चित कर ली जाय।

यह भी पढ़ें👉 हल्द्वानी- बर्ड फ्लू को लेकर ऐसे हो रही जलाशयों की निगरानी, देखिए ताजा तश्वीरें

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून- 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा के रिजल्ट का फार्मूला तैयार


बैठक में पुलिस अधीक्षक मणिकांत मिश्रा ने अवगत कराया है कि उत्तरायणी मेले के लिए सभी सुरक्षा एवं यातायात व्यवस्था की सभी व्यवस्थायें सुनिश्चित कर ली गयी है जिसमें मेले को 02 जोन एवं 05 सैक्टर बनाये गये है जिसमें यातायात व्यवस्था को सुनिश्चित करने के लिए 07 बैरियर प्वार्इंट बनाये गये है, जिसमें गरूड़ रोड़, भराड़ी टैक्सी स्टैण्ड, डिग्री कालेज, काण्डा रोड़, ताकुला, अमसरकोट आदि चौराहों पर बैरियर लगाये जायेंगे। उप जिलाधिकारी बागेश्वर योगेन्द्र सिंह ने अवगत कराया है कि उत्तरायणी मेले में आयोजित होने वाले धार्मिक अनुष्ठानों के लिए मेले क्षेत्र को 02 जोन एवं 05 सैक्टरों में बांटा गया है जिसमें जोनल एवं सैक्टर मजिस्ट्रेटों की तैनाती कर दी गयी है। अधि0अधि0 नगरपालिका राजदेव जायसी ने अवगत कराया है कि मेले में 12 स्थानों में अलाव जलाने की व्यवस्था कर ली गयी है तथा सभी घाटों की साफ सफार्इ व्यवस्था, रंगरोगन आदि की व्यवस्था की जा रही है तथा सरयू नदी में एक अस्थार्इ पुल का भी निर्माण किया जायेगा।

यह भी पढ़ें👉 पहाड़ की बेटी ने सेनेटरी पैड का बनाया पहाड़ी ब्रांड, महिलाओं को भी ऐसे दिया स्वरोजगार, आप भी जुड़े इस मुहिम से.

अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments