उत्तराखंड- यहां पशुधन सहायक की हुई मौत, हेलीकॉप्टर से किया गया रेस्क्यू

खबर शेयर करें -

बागेश्वर– पिंडारी ग्लेशियर के बुग्यालों में भेड़ तथा बकिरियों को चुगाने गए एक पशुधन सहायक की अचानक तबियत बिगड़ गई। इसकी सूचना साथ में गए दूसरे संविदा कर्मी ने अपने विभाग को दी। मौसम खराब के कारण उसे रेस्क्यू करने में दो दिन लग गए। जब जब रेरस्क्यू टीम मौके पर पहुंची तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। एसडीआरएफ की टीम व हेली सेवा के माध्मय से उसके शव को कपकोट लाया गया। उसके बाद जिला मुख्यालय में शव का पोस्टमार्टम किया गया। पुलिस प्रशासन मामले की जांच में जुट गई है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार अनिल कुमार पुत्र शंकरलाल उम्र 39 निवासी दुग बाजार बागेश्वर शामा भेड़ प्रजनन केंद्र में पशुधन सहायक के पद पर तैनात थे। दस जून को वह केंद्र से भेड़ों को लेकर बुग्यालों को चुगान के लिए चले गए।

उनके साथ संविदा कर्मी डिगर सिंह भी शामिल था। 29 जुलाई की शाम डिगर सिंह ने शामा भेड़ फार्म में सूचना दी कि उसके साथ अनिल की तबियत अचानक खराब हो गई है। दो दिन से उसे खांसी आदि की समस्या चल रही थी। अब तबियत बिगड़ गई है। सूचना के बाद केंद्र प्रभारी ने प्रभारी मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डॉ. कमल पंत को दी। पंत ने आपदा कंट्रोल रूम, एसडीएम कपकोट व डीएम अनुराधा पाल को घटना से अवगत कराया।

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून -(बड़ी खबर) इस विभाग में कर्मचारियो के स्थानांतरण की प्रक्रिया शुरू

शनिवार की रात ही एसडीआरएफ, स्वास्थ्य, राजस्व व पशुपालन विभाग के कर्मी रेस्क्यू के लिए रवाना हुए। 30 जुलाई को रेस्क्यू के लिए हेली सेवा के लिए धारचूलना व देहरादून संपर्क किया, लेकिन मौसम खराब होने के कारण हेली सेवा नहीं मिल पाई, लेकिन पैदल चल रही रेस्क्यू टीम आगे बढ़ती गई। पौने आठ बजे वह द्वाली पहुंची। सोमवार को सुबह मौसम साफ हुआ तो द्वाली से टीम फुरकिया के लिए रवाना हुई। उधर देहरादून से हेली सेवा भी पहुंच गई। जब तक टीम वहां पहुंची तब तक उसका निधन हो चुका था। उसके बाद शव हेली से कपकोट लाया गया। यहां से पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल लाया गया। पाीएम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया है।

यह भी पढ़ें 👉  मौसम अपडेट- उत्तराखंड के कुछ जिलों में मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक मौसम बिगड़ने के आसार
यह भी पढ़ें 👉  BIG BREAKING - बीजेपी उम्मीदवार की हार्ट अटैक से मौत, कल हुआ था मतदान

प्रभारी मुख्य पशु चिकित्साधिकारी बागेश्वर डॉ. कमल पंत ने बताया की इस मौसम में स्थानीय अनवालों के साथ ही विभाग के कर्मचारी भेड़ चुगान करने के लिए हर साल इस मौसम में बुग्यालों में जाते हैं। इस बार भेड़ प्रजनन केंद्र शामा से 267 और कर्मी से 333 भेड़ों को कर्मचारी बुग्याल ले गए थे। शनिवार की देर शाम उन्हें कर्मचारी के स्वास्थ्य खराब की सूचना मिली।

वही डीएम अनुराधा पाल ने बताया की पशुपालन विभाग के कर्मचारी के मौत के मामले की जांच की जा रही है। पशुपालन विभाग से भी लिखित में लिया जा रहा है। उन्होंने कर्मचारी को किस आधार से भेजा गया है। शव का पोस्टमार्मम किया गया है।

अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

Subscribe
Notify of

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments