हल्द्वानी- अफसाना का गला घोटकर की थी हत्या पोस्टमार्टम से खुलासा, जाने लव स्टोरी की कहानी

खबर शेयर करें -

हल्द्वानी: 10 अप्रैल को हल्द्वानी के टीपी नगर पुलिस चौकी क्षेत्र नीलांचल कॉलोनी में कमरे में मृत मिली महिला के मामले में नया खुलासा हुआ है पोस्टमार्टम रिपोर्ट में सामने आया है कि अफसाना को गला घोंटकर मारा गया था. फिलहाल महिला हत्यारोपी पति सौरभ राज अफसाना के दो बेटियों के साथ फरार है जिसकी पुलिस तलाश कर रही है।

मूलरूप उधम सिंह नगर के रुद्रपुर वार्ड नंबर 14 सुभाष कॉलोनी रुद्रपुर निवासी सौरभ राज, पत्नी अफसाना और दो बेटियों अलीशा (5 वर्ष) और इबरा (3 वर्ष) के साथ नीलांचल कॉलोनी फेज 5 स्थित शिवाजी कॉलोनी डहरिया में गंगा राम मौर्या के मकान में किराये पर रहते रहता था.दस अप्रैल को घर में अफसाना की सड़ी-गली लाश मिली थी.

पुलिस पूरे मामले को हत्या से जोड़कर देख रही थी जहां पोस्टमार्टम रिपोर्ट सामने आने पर पता चला है कि अफसाना की गला घोटकर हत्या की गई थी.
यहां तक की अफसाना के मायके और ससुराल पक्ष के लोग पोस्टमार्टम के बाद उसकी लाश को अपने घर नहीं ले जा रहे थे लेकिन काफी दबाव के बाद ससुराल पक्ष वाले उसके शव को अपने साथ ले गए.

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी -(बड़ी खबर) सैटरडे, संडे यह रहेगा ट्रैफिक वीकेंड प्लान

पुलिस का कहना है कि फिलहाल पूरे मामले की खुलासे के लिए पुलिस की टीम लगाई गई है. आरोपी अपने दो बच्चों के साथ फरार चल रहा है पुलिस का कहना है कि आरोपी को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड - यहां आग से जलने से युवक की दर्दनाक मौत

बताया जा रहा है की हत्या आरोपी सौरभ राज 7 फरवरी को अपने बहन के घर भी पहुंचा था जहां बहन के घर लड़ाई झगड़ा किया जिसके बाद 8 फरवरी को सौरव राज हल्द्वानी पहुंचा जहां पत्नी से विवाद होने पर उसने उसकी गला घोट कर हत्या कर दी और दोनों बच्चों को अपने साथ रात में ही लेकर फरार हो गया 10 अप्रैल को घर में बदबू आने के बाद मकान मालिक को पता चला कि अफसाना की लाश कमरे में पड़ी हुई है इसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस सडी गली हालत में महिला की लाश को बरामद किया था।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी -(बड़ी खबर) 14 साल पुरानी समस्या का IAS दीपक रावत ने एक दिन में किया समाधान

अफसाना को आठ साल पहले सौरभ से प्यार हुआ था। सौरभ के लिए उसने अपना घर और धर्म दोनों छोड़ दिए थे। संग जीने-मरने की कसमें खाई थीं। दोनों की जिंदगी में सबकुछ ठीक चल रहा था और फिर सौरभ शराब का आदी हो गया। छोटी-छोटी बातों पर मारपीट व झगड़ा उसकी आदत बन गई थी
आठ अप्रैल की रात को सौरभ शराब पीकर घर पहुंचा और जिन हाथों से उसने पत्नी की मांग में संदूर भरा था, उन्हीं हाथों को उसने खून से रंग लिया.

अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

Subscribe
Notify of

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments