Ad

हल्द्वानी- (मिसाल) बिना बैंड बाराती के दूल्हे ने की शादी, बिना आभूषणों के दुल्हन लिए सात फेरे

Ad - Bansal Jewellers
खबर शेयर करें
  • 1.3K
    Shares

हल्द्वानी- आजकल का युवा कई मिसाल दे रहा है। एक ओर जहां लोग शादियों में लाखों खर्च कर रहे वही दिखावे और अनावश्यक खर्च से परहेज कर कमल और रीतू ने सादगी से शादी कर समाज को एक बड़ा सन्देश दिया। इस बारात की खास बात यह थी कि न बैंड बजा न बराती आए। कबीर साहेब और गुरु प्रतिमा को साक्षी मानकर दोनों ने 17 मिनट में विवाह कर लिया। विवाह में दोनों पक्षों ने एक रुपया भी दहेज का लेनदेन नहीं किया। विवाह में कोरोना गाइड लाइन का पूरी तरह पालन किया गया।

जानकारी के अनुसार किड़ई, दुग नाकुरी बागेश्वर निवासी कमल चौहान पुत्र इंद्र सिंह और पिथौरागढ़ निवासी रीतू पुत्री भगवान सिंह बसेड़ा ने गुरुवार को बिठौरिया, ऊंचापुल में खुशाल सिंह मेहता के घर में सादगी से विवाह किया। खुशाल सिंह रिश्ते में दूल्हे के मामा हैं। दूल्हा दुल्हन ने किसी प्रकार के आभूषण भी नहीं पहने। कमल जलागम कपकोट में कार्यरत है। रीतू ने एमए की पढ़ाई पूरी की है। शहर भर में सादगी वाला यह विवाह चर्चा का विषय बना रहा।

Ad
Ad
Ad
Ad
यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- देवभूमि का आज एक और लाल सीमा पर शहीद
अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

1 Comment
Inline Feedbacks
View all comments