उत्तराखंड – (बड़ी खबर) यहां हुवा दर्दनाक हादसा, रामलीला देख कर आ रहें तीन लोगो की मौत

खबर शेयर करें -
  • पुलिस ने रेस्क्यू ऑपरेशन चलाकर शव खाई से बाहर निकाले

BageshwarNews– उत्तराखंड के पर्वतीय मार्गों में नहीं थम रहे हादसे, बागेश्वर से दर्दनाक हादसे की खबर ,रामलीला देखकर वापस घर लौट रहे युवकों की कार खाई में गिरी। तीन की मौत एक गंभीर घायल। परिजनों में मचा कोहराम ,गांव में छाया मातम।

बागेश्वर में देर रात बागेश्वर दफौट मोटर मार्ग में बिलौना-दफौट पुलिस लाइन बायपास मोटर के समीप ऑल्टो कार अनियंत्रित होकर गहरी खाई में गिर गई। घटना में तीन की मौत एक घायल। घटना पौने दो बजे रात की है ।डीसीआरबी से सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुँची।कोतवाल कैलाश नेगी फायर ब्रिगेड की टीम के साथ मौके पर पहुँचे।रात में पहाड़ी चट्टान के बीच टार्च से रेस्क्यू अभियान चलाया गया।काफी मसक्त के बाद वाहन में सवार चारो युवकों को रेस्क्यू किया गया।


घटना में कार से छटके तीन युवकों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई, जबकि कार में फंसा एक यात्री गम्भीर रूप से घायल है, जिसका जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है। सूचना मिलते ही मौके पर पुलिस उपाधीक्षक शिवराज सिंह राणा भी रेस्क्यू करने पहुँचे। उन्होंने बताया कि वे रामलीला देखने के बाद वापस घर लौट रहे थे। प्राप्त जानकारी के आधार पर अल्टो कार संख्या यूके- 02 ए 3030 में चार व्यक्ति सवार थे जिसमें तीन व्यक्तियों की मौके पर ही मुत्यु हो गई। जबकि एक व्यक्ति घायल हुआ है।

यह भी पढ़ें 👉  अल्मोड़ा: सोमेश्वर के यमन बने भारतीय नौसेना में ऑफिसर, आप भी दीजिए बधाई
यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- यहां ड्यूटी से गायब मिले 3 शिक्षक, हुई यह कार्रवाई

दुर्घटना में मनोज कुमार पुत्र पूरन सिंह उम्र 35 वर्ष ग्राम सिमतोली दफौट घायल है।जबकि
मृतक—– विजय सिह पुत्र सुरेश सिह सिमतोली उम्र 30 वर्ष, रोहित सिंह पुत्र भूपाल सिह उम्र 20 वर्ष ,
सुनील सिह पुत्र सूरेश सिह उम्र 21 वर्ष है। मृतकों का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम की कार्रवाई चल रही है।।

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून -(बड़ी खबर) गजब है हाल, अब चार फर्जी डॉक्टर भी गिरफ्तार

सड़क सुरक्षा की अनदेखी

दफौट मोटर मार्ग संकरी होने के बाद भी सड़क सुरक्षा की अनदेखी,कम चौड़ी और कठोर चट्टानों के बीच सड़क होने के बाद लोनिवि और जिला प्रशासन ने सड़क किनारे दुर्घटना रोकने के लिए नही लगाए है पैराफिट और स्टील चादर के गार्डर। गार्डर लगे होते तो बड़ा हादसा होने से टल सकता था।जिम्मेदार कौन?लापरवाही या दुर्घटना सम्भावित पहाड़ी पर सड़क सुरक्षा मानकों की कमी, आखिर चट्टान में गहरी खाई होने के बाद भी स्टील गार्डर क्यों नही लग पाए, सवालिया निशान, बजट की कमी या विभागीय अनदेखी।

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

[wp-post-author]

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments