उत्तराखंड-(बड़ी खबर)15 मुकदमे, 61 हजार का इनाम, 36 करोड़ की ठगी, ऐसे हाथ आई कुख्यात मोनिका

खबर शेयर करें -

देहरादून– जागरण जनशक्ति मल्टी स्टेट मल्टी परपज को-आपरेटिव सोसायटी लिमिटेड कंपनी खोलकर निवेश के नाम पर आमजन से 36.25 करोड़ रुपये की ठगी में वांछित मुख्य आरोपित महिला को उत्तराखंड पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने दिल्ली से गिरफ्तार कर लिया। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एटीएफ आयुष अग्रवाल ने बताया कि महिला ने अपने सहयोगियों के साथ मिलकर उत्तराखंड के देहरादून, चमोली, टिहरी, उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, पौड़ी व बागेश्वर में ठगी को अंजाम दिया था। महिला पर इन सात जिलों में कुल 15 मुकदमे दर्ज हैं और उस पर चार जिलों की पुलिस ने 61,500 रुपये इनाम घोषित किया हुआ था । वर्तमान में वह दिल्ली के पंजाबी बाग स्थित प्रगति अपार्टमेंट में रह रही थी ।

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून -(बड़ी खबर) 1 बजे तक राज्य की सभी लोकसभा में इतने प्रतिशत मतदान

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अग्रवाल ने बताया कि आरोपित महिला मोनिका कपूर ने वर्ष 2015 में उत्तराखंड में अपने सहयोगियों के साथ मिलकर जनशक्ति मल्टी स्टेट मल्टी परपज को-आपरेटिव सोसायटी लिमिटेड नाम की एक कंपनी खोली। वह खुद को कंपनी

महिला के विरुद्ध यहां दर्ज हैं मुकदमे

मोनिका के विरुद्ध वर्ष 2020 से 2023 के बीच देहरादून के रायपुर, डोईवाला व पटेलनगर में तीन, टिहरी जिले में तीन, चमोली जिले में पांच जबकि उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, पौड़ी और बागेश्वर में कम्पनी का निदेशक बताती थी। कंपनी ने प्रदेश के कई जिलों में कार्यालय खोले और बेरोजगारों को कंपनी का प्रचार करने और निवेश करने का झांसा दिया। इसके लिए कई लोगों से खाते खुलवाए और रकम जमा कराई। दो वर्ष पहले वह जमा की कर चुकी है। गई करोड़ों रुपये की धनराशि लेकर कंपनी फरार हो गई। मोनिका व उसके सहयोगियों के विरुद्ध पुलिस देहरादून सहित उत्तराखंड के सात जिलों में लोगों से निवेश के नाम पर ठगी थी रकम वही आरोपित महिला के विरुद्ध दर्ज हैं 15 मुकदमे, 61500 रुपये इनाम था घोषित

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी -(बड़ी खबर) पोलिंग पार्टियां पहुंचना शुरू, DM ने बताया मतदान प्रतिशत
यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड - यहां सौतेली मां ने मासूम बच्ची की हत्या कर गड्ढे में दबाया

जांच मेंसामने आया कि आरोपितों ने उत्तरकाशी में 16 करोड़ रुपये, टिहरी जिले में सवा करोड़ रुपये, देहरादून जिले में 13 करोड़ रुपये और चमोली जिले में करीब छह करोड़ रुपये की ठगी की।

पुलिस ने गैंगस्टर अधिनियम के तहत भी मुकदमा दर्ज किया था। वह तभी से वांछित चल रही थी। इस मामले में पुलिस कंपनी के तीन पदाधिकारी कपिल देव राठी, पंकज गंभीर और अनिल रावत को पहले ही गिरफ्तार

अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

Subscribe
Notify of

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments