Shemford School Haldwani
age eater snake

उत्तराखंड में यहां दिखा इंडियन एग ईटर सांप, 50 साल पहले हो गई कि विलुप्त प्रजाति, जाने इसके बारे में

Bansal Sarees & Bansal Jewellers Ad
Advertisement
खबर शेयर करें

उत्तराखंड में 50 साल पहले विलुप्त प्रजाति घोषित किए गए इंडियन एग ईटर सांप को रेस्क्यू किया गया है इसे कॉर्बेट नेशनल पार्क के कालागढ़ रेंज से वन विभाग ने रेस्क्यू किया है इस दुर्लभ प्रजाति के सांप को देखने के बाद वन विभाग खासा खुश है।

दरअसल बुधवार को कालागढ़ में एक आवासी कॉलोनी में अजीब तरह के सांप आने की सूचना मिली थी जिस पर वन विभाग के रेस्क्यू टीम प्रभारी दीपक कुमार ने मौके पर पहुंचकर इस सांप को जब रेस्क्यू किया तो पता चला कि यह आधा मीटर लंबा जिसके सिर पर नारंगी लकीरें और पीठ पर भूरे रंग की लकीरें मौजूद थी। बताया जाता है कि यह श्याम वन्य जीव संरक्षण अधिनियम की श्रेणी एक में आता है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी-(राहत) इन वाहनों के लिए खुला रानीबाग- भीमताल पुल
यह भी पढ़ें 👉  देहरादून-(बड़ी खबर) शिक्षा महकमे से बड़ी खबर, 303 अध्यापकों का प्रमोशन, बने प्रधानाध्यापक देखिए लिस्ट

50 पहले इस सांप की प्रजाति को विलुप्त प्रजाति घोषित कर दिया गया था यह अधिकतर 1 मीटर तक लंबा होता है इस दुर्लभ सांप के मिलने के बाद यह अंदाजा लगाया जा रहा है कि उस इलाके में और भी साफ हो सकते हैं क्योंकि यह सांप एक बार में कम से कम 40 से 50 अंडे देता है।

अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments