Ad

हल्द्वानी-(अजब- गजब) बुजुर्ग खुद अपना डेथ सर्टिफिकेट लेकर पहुंचा कमिश्नर दरबार, बोला ‘साहब मैं जिंदा हूं’

खबर शेयर करें

हल्द्वानी- कुमाऊं कमिश्नर दीपक रावत के दरबार में एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसे सुनकर आप हैरान रह जाएंगे। यहां एक फरियादी अपना डेथ सर्टिफिकेट लेकर खुद यह कहने आया कि साहब मैं जिंदा हूं , क्योंकि कागजों में उसे मार दिया गया है।

यह मामला नैनीताल जनपद के कुश्या कुटौली तहसील का है। यहां के रहने वाले हरि कृष्ण बुधलाकोटी जिन्हें तहसील और ग्राम पंचायत के कर्मचारियों द्वारा फर्जी तरीके से 1980 में मृत घोषित कर 2010 में प्रमाण पत्र बना कर मृतक घोषित होने के बाद उनकी नैनीताल के पंगोट स्थित जमीन को 2011 में कुछ भू माफियाओं ने खरीद ली है अब हरि कृष्ण बुधलाकोटी जमीनी हक के लिए सरकारी ऑफिसों के चक्कर काट रहे हैं।

सरकारी विभागों से निराश होकर बुधलाकोटी कुमाऊं कमिश्नर दीपक रावत के दरबार में पहुंचे और उन्हें अपना दुखड़ा सुनाया। बताया कि रामनगर में तैनात वन विभाग के एक बड़े अधिकारी ने उनकी पंगोट स्थित 3 नाली जमीन को भूमाफियाओं से मिलकर खरीदा है। कुश्या कुटौली तहसील के कर्मचारियों की भी इसमें मिलीभगत है, उन्होंने इस संबंध में तहसील में भी शिकायत दर्ज किया है, लेकिन तहसीलदार भी कोई कार्रवाई नहीं कर रहे हैं। उनका कहना है कि उनके डेथ सर्टिफिकेट को पंचायत के अधिकारी और तहसील के कर्मचारियों की मिलीभगत से बनाया गया है। उनकी समस्या पर कुमाऊं कमिश्नर दीपक रावत ने तहसीलदार कुश्या कुटौली को पूरे मामले में निष्पक्ष जांच करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि यह बेहद गंभीर मामला है और इसकी निष्पक्ष जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Ad
यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड-यहां कार और बस की भिड़ंत, त्यौहार के दिन मची चीख पुकार
अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments