उत्तराखंडः पेपर लीक मामले में रूद्रपुर का कोचिंग संचालक गिरफ्तार, ऐसे बेच दिया था जेई का पेपर

खबर शेयर करें -

उत्तराखंड में पेपर लीक मामला चरम पर रहा। इस मामले में अभी तक कई लोग सलाखों के पीछे पहुंच चुके है। पूरे प्रदेश भर में पेपर लीक के तार जुड़े है। आये दिन अलग-अलग जिलों से गिरफ्तारियां हो रही है। अब एसआइटी ने पेपर लीक मामले में फरार चल रहे 50 हजार के इनामी पूर्व भाजपा नेता संजय धारीवाल के एक और रिश्तेदार को गिरफ्तार किया है। आरोपी रुद्रपुर ऊधमसिंहनगर जिले में मिशन आइएएस कोचिंग एकेडमी चलाता था। जिसके बाद कुछ और कोचिंग सेंटर एसआइटी के राडार पर हैं। जल्द ही कई और गिरफ्तारियां हो सकती है। आगे पढ़िए…

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून -(बड़ी खबर) इन 8 जिलों में बारिश के आसार

गौरतलब है कि विगत जनवरी महीने में राज्य लोक सेवा आयोग ने पटवारी और साल 2022 के अप्रैल व मई माह में हुई जेई-एई भर्ती के पेपर लीक कांड की जांच कर रही। पेपर लीक में शामिल आरोपियों को एसआइटी लगातार पकड़ रही है। शुक्रवार को एक और खुलासा हुआ जब इस मामले मं कोचिंग सेन्टर संचालकों के गठजोड़ सामने आया। आगे पढ़िए…

एसआइटी की जांच में पूर्व भाजपा नेता संजय धारीवाल के तार रुद्रपुर ऊधमसिंहनगर में मिशन आइएएस कोचिंग एकेडमी के नाम से कोचिंग सेंटर चलाने वाले उसके रिश्तेदार दीपेंद्र पंवार निवासी मुकंदपुर थाना गदरपुर से जुड़े सामने आए थे। पूछताछ करने के बाद एसआइटी ने उसे गिरफ्तार कर लिया गया। संजय धारीवाल के कहने पर कुछ अभ्यर्थियों को तैयार किया और उनसे लाखों रुपये की धनराशि अपने परिचितों के खातों में मंगवा कर जेई भर्ती परीक्षा के प्रश्न पत्र बेचा था।आरोपी को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया गया है।

अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

Subscribe
Notify of

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments