उत्तराखंडः अधिकारी का जवाब सुन बिफर पड़ी जिं पंचायत अध्यक्ष, बोली सुधर जाओ, नहीं तो बाहर कर दूंगी…

खबर शेयर करें -

Tehari News: समय-समय पर अधिकारियों को फटकार लगाने की खबरें आती रहती है। अब खबर टिहरी से है। जहां जिला पंचायत की बोर्ड बैठक में ऊर्जा निगम के अधिशासी अभियंता अर्जुन प्रताप सिंह की लापरवाह कार्यशैली पर जनप्रतिनिधि बरस पड़े। बैठक में जनप्रतिनिधियों ने कहा कि ऊर्जा निगम को लगातार समस्याएं बताने के बावजूद उसकी समस्या का समाधान नहीं हो रहा है। वहीं अधिशासी अभियंता फोन तक नहीं उठाते हैं। सदन में सही जवाब न दिये जाने पर अध्यक्ष सोना सजवाण ने भी ईई को जमकर फटकार लगाई और कार्यशौली सुधारने की चेतावनी दी।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड - आपके लिए तैयार है फूलो की घाटी, ऐसे पहुंचे

पूरा मामला शनिवार का है। जिला पंचायत अध्यक्ष सोना सजवाण और मुख्य विकास अधिकारी मनीष कुमार की मौजूदगी में जिला पंचायत बोर्ड बैठक में जिपं सदस्य भरत सिंह बुटोला ने कहा कि मंजोली गांव में ग्रामीणों के मकानों की छत पर 11 केवी की लाइन की तारें लटक रही हैं,। इसके लिए कई बार अधिशासी अभियंता कह दिया गया,लेकिन अभी तक लाइनें सही नहीं की गई है। जिपं सदस्य सतेंद्र धनोला ने कहा कि ऊर्जा निगम ने उनके क्षेत्र में कई स्कूलों में बिजली कनेक्शन काट दिए हैं जिससे छात्रों को परेशानी हो रही है।

वहीं जिपं सदस्य रेखा असवाल ने कहा कि उन्होंने क्षेत्र की समस्याओं को लेकर कई बार ऊर्जा निगम के अधिशासी अभियंता अर्जुन प्रताप सिंह को फोन किया लेकिन उन्होंने एक महीने तक उनका फोन ही नहीं उठाया। जिपं सदस्य हितेश चैहान ने कहा कि उनके गांव बुडोगी में बिजली की तारें पेड़ों से जा रही हैं। शिकायत के बावजूद अभी तक पेड़ों की लापिंग नहीं की गई है। तारों की चपेट में आकर पिछले दिनों एक गाय भी मर गई थी।

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून - निजी स्कूल तीन साल से पहले फीस नहीं बढ़ा सकेंगे
यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी -(बड़ी खबर) दर्दनाक सड़क हादसे में दो लोगों की मौत तीन महिलाएं गभीर

जिपं सदस्य देवेंद्र भट्ट ने देवप्रयाग की बिजली की समस्या उठाई तो ईई ने कहा कि वह उनके क्षेत्र में नहीं पड़ता है। इस दौरान ईई ने जब जनप्रतिनिधियों की शिकायत का संतोषजनक उत्तर नहीं दिया तो जिपं अध्यक्ष सोना सजवाण भी उन पर बिफर पड़ी और उन्होंने ईई को जमकर फटकार लगाई। उन्होंने कहा कि वह अपनी कार्यशैली सुधारें नहीं तो उन्हें बैठक से बाहर कर दिया जाएगा। इसके बाद ईई ने जिपं अध्यक्ष से सदन में माफी मांगी तो अध्यक्ष का गुस्सा शांत हुआ।

अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

Subscribe
Notify of

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments