उत्तराखंडः स्कूल की बताई दुकान से नहीं खरीदे मौजे तो छात्र की पिटाई, डीएम के पास पहुंचा मामला

खबर शेयर करें -

Uttarakhand News: उत्तराखंड में एक गजब का मामला सामने आया है। स्कूल की बताई दुकान से मौजे न खरीदने पर तीन बच्चों को कक्षा के बाहर खड़ा कर दिया। इसकी शिकायत बिगवाड़ा के सुनील रस्तोगी ने कलक्ट्रेट में जिलाधिकारी को सौंपे ज्ञापन में कहा कि उनके तीन बच्चे मॉम्स प्राइड स्कूल में पढ़ते हैं। आरोप है कि स्कूल से निर्धारित दुकान से मौजे न खरीदने पर तीनों बच्चों को कक्षा के बाहर खड़ा किया जा रहा था। शिकायत पर डीएम ने सीईओ को मामले की जांच कर रिपोर्ट देने के निर्देश दिए।

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून -(बड़ी खबर) इस विभाग में कर्मचारियो के स्थानांतरण की प्रक्रिया शुरू

ेसीईओ के निर्देश पर बीईओ राजेंद्र सिंह ने शिकायतकर्ता के बयान दर्ज किए हैं। उन्होंने बताया कि जांच रिपोर्ट तैयार है। इसे सोमवार को सीईओ को सौंपा जाएगा। स्कूल के प्रधानाचार्य ने आरोप को निराधार बताया है। बिगवाड़ा के सुनील रस्तोगी ने डीएम को एक ज्ञापन सौंपा। जिसमें कहा कि उनके तीन बच्चे मॉम्स प्राइड स्कूल में पढ़ते हैं। आरोप है कि स्कूल से निर्धारित दुकान से मौजे न खरीदने पर तीनों बच्चों को कक्षा के बाहर खड़ा किया जा रहा था। स्कूल की ओर से तय दुकान पर एक जोड़ी मौजे 90 रुपये में मिल रहे थे। दूसरी दुकान से 90 रुपये में तीन जोड़ी मौजे खरीदे और उन्हें पहनाकर ही बच्चों को स्कूल भेजा। लेकिन इससे नाराज होकर शनिवार सुबह संगीत और कराटे के शिक्षकों ने 7वीं में पढ़ने वाले बेटे अंगद की पिटाई की। उनके बेटे ने कराटे और संगीत के विषय नहीं लिए हैं। शिकायत करने पर प्रधानाचार्य ने टीसी काटकर बाहर करने की बात कही। इस मामले में प्रधानाचार्य दिनेश दीपक का कहना है कि आरोप निराधार हैं। तीनों बच्चों की छह महीने की फीस जमा नहीं हुई है। बच्चे निर्धारित ड्रेस पहनकर नहीं आते हैं। बच्चों को टोकने पर उनके पिता ने स्कूल में आकर शिक्षकों से अभद्रता की।
……………

अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

Subscribe
Notify of

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments