उत्तराखंड-(बड़ी खबर) सनसनीखेज खुलासा, रेप के प्रयास में असफल होने पर, महिला की हत्या कर पेड़ से लटकाया

खबर शेयर करें -

Udham Singh Nagar News: उधम सिंह नगर जिले की काशीपुर पुलिस ने बीती 15 मई को भावनगर रोड स्थित आपके पास में मिली सेवानिवृत्त वीडीओ की पत्नी के संदिग्ध परिस्थितियों में पेड़ से लटके मिले शव के मामले का खुलासा कर दिया है। महिला के साथ बलात्कार में असफल रहने पर आरोपी युवक ने अधेड़ महिला की हत्या कर शव को पेड़ में लटका दिया था ताकि इस हत्या को आत्महत्या का स्वरूप दिया जा सके। पुलिस ने मामले का पर्दाफाश में आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। हत्याकांड का खुलासा एसपी क्राइम ऊधम सिंह नगर चंद्रशेखर घोड़के ने एसपी कार्यालय में किया।

आपको बताते चलें कि काशीपुर में रामनगर रोड स्थित ग्राम लक्ष्मीपुर लच्छी निवासी सेवानिवृत्त बीडीओ चन्द्रिका यादव की पत्नी मुन्नी देवी सुबह 8 बजे अपने खेत में चारा काटने के लिए गई हुयी थी जब काफी देर हो जाने के बाद वह घर नहीं आयी तो परिवार वालों के द्वारा छानबीन की गयी छानबीन में देखा कि मुन्नी देवी आम के बाग में आम के पेड़ में अपनी साड़ी के फंदे में लटकी हुई थी। इसके बाद मृतका के परिवार वालों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस की प्राथमिक जांच में मुन्नी देवी को उसी की घास ले जाने वाली पल्ली की रस्सी से गला घोट कर उसी की साड़ी से शव का आम की टहनी पर टांगा गया था तथा टंगे हुये स्थान से करीब 13-14 कदम दूर मृतका की चूडिया टूटी हुयी थी जिससे प्रतीत हो रहा था कि अभियुक्त एंव मृतका के बीच हाथापाई हुई थी घटना स्थल के पास ही मृतका की दराती पड़ी हुयी थी जिस पर खून के निशान लगे हुये थे। पुलिस ने मृतका के शव का पोस्टमार्टम करवाया गया तथा परिवार वालों की तहरीर पर अज्ञात के खिलाफ धारा 302/201 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया।

घटना के सफल अनावरण के लिए जिले के एसएसपी डॉ. मंजुनाथ टीसी द्वारा पुलिस अधीक्षक अपराध उधमसिंहनगर चन्द्रशेखर घोड़के, एसपी काशीपुर अभय सिंह और सीओ काशीपुर सुश्री वन्दना वर्मा के पर्यवेक्षण में पुलिस की पांच अलग अलग टीमों का गठन किया गया। इस दौरान उपनिरीक्षक कपिल कम्बोज की टीम के द्वारा ज्ञात हुआ कि घटना स्थल के पास खेत में एक 20-21 वर्ष के लड़के के द्वारा एक महिला को घास का गट्ठर उठाने में मदद की गयी थी। उक्त महिला से संदिग्ध का हुलिया एंव कपड़ों का रंग पूछकर आने-जाने वाले रास्तों की सीसीटीवी कैमरे चैक किये गये, जिनमें उक्त संदिग्ध व्यक्ति दिखाई दिया जिसकी फोटो निकाल कर क्षेत्र में मुखबिरों को दिखाई गयी तो उसकी पहचान मनोज कुमार उर्फ विनोद के रूप में किये जाने पर संदिग्ध मनोज कुमार उर्फ विनोद को पकड़ा गया तो उसके बांये हाथ की बीच की अंगुली किसी धार धार हथियार से कटी हुयी निकली। इससे पुलिस का शक गहराने पर उससे सख्ती से पूछताछ की गयी तो उसने अपना जुर्म स्वीकार कर लिया।

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून: आपदा मद में ₹13 करोड़ की दूसरी किश्त जारी, सभी DM को पुलियाओं, पेयजल लाइनों, सिंचाई नहरों की मरम्मत के निर्देश
यह भी पढ़ें 👉  अल्मोड़ा :(बड़ी खबर) आग बुझाने में चार वनकर्मी जिंदा जले, चार हायर सटर रेफर, CM ने जताया दुख:, की घोषणा

पुलिस की पूछताछ में हत्यारोपी मनोज कुमार उर्फ विनोद ने बताया कि वह धनौरी गांव का रहने वाला है तथा पिता की मौत के बाद वह ग्रेड मिशन स्कूल हिम्मतपुर रामनगर की स्कूल बस में हैल्परी की नौकरी करता है तथा धनौरी प्रतापपुर में अपने बड़े भाई के साथ रहता है। घटना के दिन वह स्कूल के बच्चों को स्कूल छोड़ने के बाद घर पर खाना खाकर अमरूद के बगीचे में गया। वहाँ पर ट्यूबबेल में पानी पीकर गन्ने के खेत की तरफ जा रहा था तभी उसे गन्ने के खेत में मुन्नी देवी मिली, जिन्हें बचपन से जानता था। उसने उन्हें बताया कि यहाँ खेत में दवाई डाली है यहाँ घास मत काटो तथा आम के बगीचे में घास काट लो। मृतका मुन्नी ने उसकी बात मानी और आम के बगीचे में चली गयी तब पीछे पीछे वह भी चला गया और चरस से भरी बीडी पीने के बाद बदनीयति से वह धीरे-धीरे मृतका के पास पहुंचा और शारीरिक सम्बन्ध बनाने के लिये मृतका से जोर जबरदस्ती का प्रयास करने लगा तो मृतका द्वारा इसका विरोध करते हुए उसे थप्पड़ मारा व गुस्से में आकर दराती से वार किया तो उसने अपने बाये हाथ से दराती पकड़ ली जिससे मनोज की बाएं हाथ की बीच वाली अंगुली कट गयी।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड : यहां किशोरी के साथ दुष्कर्म, मामला दर्ज

मुन्नी देवी ने जोर-जोर से चिल्लाते हुये हाथ छुड़ाने की कोशिश की तथा बार-बार कह रही थी कि तेरी हरकत के बारे में सब को बता दूंगी। तब उसने मुन्नी देवी का मुंह बन्द करके उसका गला दबा दिया तथा धक्का- मुक्की करते हुये 10-15 कदम चलते हुये आम के बाग के पास पाहुँचा गया और मैनें मृतका की दराती छीनकर दराती के मुठ से ऑटी के मुँह में जोर-जोर से मारा और गला घोटा तो मुन्नी देवी को हल्की बेहोशी आने लगी तब उनकी पल्ली की रस्सी से ही उनका गला दबा दिया और वह मर गयी। जिसके बाद वह घबरा गया और उसने मृतका की साड़ी को उनके गले में लपेट कर गाँठ बाँधी और उनकी मौत को आत्महत्या दिखाने के लिये साडी को आम के पेड़ की नीचे व उपर वाली टहनी में लपेटकर दोबारा गले में गांठ लगा दी और फिर चुप-चाप बाग से निकल गया। पुलिस को हत्यारोपी मनोज कुमार सिंह पुत्र जीत सिंह के पास से हत्या में प्रयुक्त दराती, मृतका की साड़ी साडी मृतका, पल्ली सहित रस्सी बरामद की है।

अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

Subscribe
Notify of

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments