Ad

उत्तराखंड- राज्य में 58374 लोगों ने लौटाए राशन कार्ड, अगर आप पात्र है तो करें आवेदन

खबर शेयर करें

देहरादून: अपात्र को ना और पात्र को हां अभियान के तहत उत्तराखंड में बहुत से लोग ऐसे लोग थे जो गरीबों के राशन पर डाका डालने का काम कर रहे थे। सरकार के सख्ती के बाद पूरे प्रदेश में 58374 अपात्र राशन कार्ड धारकों ने अपने कार्ड को लौट आए हैं ऐसे में अब पात्र लोगों को राशन का हक मिलेगा। यह सभी अपात्र लोग राष्ट्रीय खाद सुरक्षा योजना के तहत गरीबों को मिलने वाले राशन का लाभ ले रहे थे। ऐसे में लौटाए गए राशन कार्ड के जगह पर पात्र लोगों को राशन कार्ड उपलब्ध कराया जाएगा।

खाद्य मंत्री रेखा आर्य ने कहा कि राशन कार्ड में व्यापक विसंगतियों को देखते हुए मई प्रथम सप्ताह में ‘अपात्र को ना, पात्र को हां’ मुहिम शुरू की गई थी। इसमें अब तक राज्यभर में 58,374 कार्ड धारकों ने स्वेच्छा से अपने राशन कार्ड सरेंडर कर दिए हैं। इसमें तीनों श्रेणी के राशन कार्ड और कुल 2.40 लाख यूनिट शामिल हैं।

उन्होंने कहा कि इससे साफ हुआ है कि बड़ी संख्या में लोग जाने अनजाने मुफ्त राशन का लाभ ले रहे थे, जबकि कई पात्र परिवारों को राशन नहीं मिल पा रहा था। उन्होंने कहा कि अभी इस महीने के अंत तक लोग स्वेच्छा से अपना राशन कार्ड सरेंडर कर सकते हैं। इसके बाद इन राशन कार्ड को पात्र लोगों का दिया जाएगा, जिस जिले में जितने कार्ड सरेंडर हुए हैं वहां उतने ही पात्र लोगों के नए राशन कार्ड बनेंगे।

कहां कितने कार्ड सरेंडर हुए
जिला सरेंडर
चमोली 2159
पौड़ी 0934
उत्तरकाशी 597
टिहरी 3697
देहरादून 9867
रुद्रप्रयाग 786
हरिद्वार 8987
यूएसनगर 10214
नैनीताल 4435
चम्पावत 879
बागेश्वर 1517
अल्मोड़ा 962
पिथौरागढ 3340

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड – (Weather Alert) राज्य में पहाड़ से मैदान तक झमाझम बारिश की संभावना, जानिए 15 अगस्त तक मौसम का हाल
यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- यहां पांच बकरियों को मार गया गुलदार, आधा दर्जन कुत्ते भी कर चुका है चट

खाद आपूर्ति विभाग ने अब पात्र लोगों से आवेदन मांग रहा है जो गरीब कल्याण योजना के तहत पात्रता रखता हो। योजना के तहत अपात्र लोगों को ही केवल राशन कार्ड बन सकेगा।

Ad
अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments