नैनीताल – (बड़ी खबर) राष्ट्रीय शैक्षिक एवं सांस्कृतिक महोत्सव का शुभारंभ, देशभर से पहुंचे शिक्षक

खबर शेयर करें -

नैनीताल – शिक्षकों का राष्ट्रीय शैक्षिक एवं सांस्कृतिक महोत्सव का शैलनट नाट्य अकादमी के सौजन्य से आयोजित किये गये। कार्यक्रम का शुभारंभ महाराष्ट्र के पूर्व राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी तथा उत्तराखंड के पूर्व शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे तथा सीसीआरटी के पूर्व निदेशक गिरीश चंद्र जोशी के द्वारा संयुक्त रूप से किया गया ।


कार्यक्रम के प्रस्तुतीकरण के पलों में प्रतिभा प्रतिभा पंत के द्वारा शिव वंदना आवाहन गीत चित्रा पाठक एवं शिवांगी पाठक तथा गणेश स्तुति आनंद एकेडमी विद्यालय हल्द्वानी के बच्चों के द्वारा की गई।


जय हो कुमाऊं, जय हो गढ़वाल नृत्य के माध्यम से उत्तराखंड की संस्कृति। की झलक दिखाई गई।
प्रथम सत्र में कार्यक्रम संयोजक डॉ0 डी एन भट्ट के द्वारा राष्ट्रीय शैक्षिक एवं सांस्कृतिक महोत्सव की रूपरेखा पर विस्तृत जानकारी प्रदान की । पूर्व शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे तथा पूर्व राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के द्वारा उपस्थित शिक्षकों को संबोधित करते हुए शिक्षा जगत में सांस्कृतिक एवं शैक्षिक पक्ष को मजबूत करने पर बल दिया।
पार्वती प्रेमा जगाती विद्यालय के प्रधानाचार्य के द्वारा विद्यालय के शैक्षिक परिदृश्य के बारे में बताया।


कार्यक्रम के प्रथम सत्र में भगत सिंह कोस्यारी जी के द्वारा अरुणाचल प्रदेश आंध्र प्रदेश,असम ,दिल्ली ,गुजरात , छत्तीसगढ़, बिहार के शिक्षकों को सम्मानित किया गया।
कार्यक्रम के द्वितीय सत्र में सांस्कृतिक प्रस्तुतियों में छोलिया नृत्य तथा विभिन्न शिक्षकों के द्वारा अपनी अपनी सांस्कृतिक प्रस्तुतियां दी जिसमें महाराष्ट्र का लोक गीत प्रभु दत के द्वारा, शगुन आखर सरोज डिमरी के द्वारा गढ़वाली लोक नृत्य मनीषा पटेल के द्वारा गरबा नृत्य प्रस्तुत किया गया।

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून -(बड़ी खबर) इन 8 जिलों में बारिश के आसार


द्वितीय सत्र में हिमाचल प्रदेश, जम्मू कश्मीर, कर्नाटक के शिक्षकों को अतिथियों के द्वारा सम्मानित किया गया। इस अवसर पर कार्यक्रम संयोजक डी न भट्ट के द्वारा सभी का धन्यवाद किया गया। शिक्षकों का राष्ट्रीय शैक्षिक एवं सांस्कृतिक महोत्सव का शैलनट नाट्य अकादमी के सौजन्य से आयोजित किया गया ।


कार्यक्रम का शुभारंभ महाराष्ट्र के पूर्व राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी तथा उत्तराखंड के पूर्व शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे तथा सीसीआरटी के पूर्व निदेशक गिरीश चंद्र जोशी के द्वारा संयुक्त रूप से किया गया ।
कार्यक्रम के प्रस्तुतीकरण के पलों में प्रतिभा पंत के द्वारा शिव वंदना आवाहन गीत चित्रा पाठक एवं शिवांगी पाठक तथा गणेश स्तुति आनंदा एकेडमी विद्यालय हल्द्वानी के बच्चों के द्वारा की गई। जय हो कुमाऊं, जय हो गढ़वाल नृत्य के माध्यम से उत्तराखंड की संस्कृति की झलक दिखाई गई।


प्रथम सत्र में कार्यक्रम संयोजक डॉ० डी एन भट्ट के द्वारा राष्ट्रीय शैक्षिक एवं सांस्कृतिक महोत्सव की रूपरेखा पर विस्तृत जानकारी प्रदान की । पूर्व शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे तथा पूर्व राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के द्वारा उपस्थित शिक्षकों को संबोधित करते हुए शिक्षा जगत में सांस्कृतिक एवं शैक्षिक पक्ष को मजबूत करने पर बल दिया।
विद्यालय पार्वती प्रेमा जगाती विद्यालय के प्रधानाचार्य के द्वारा विद्यालय के शैक्षिक परिदृश्य के बारे में बताया।
कार्यक्रम के प्रथम सत्र में भगत सिंह कोश्यारी जी के द्वारा अरुणाचल प्रदेश आंध्र प्रदेश,असम ,दिल्ली ,गुजरात , छत्तीसगढ़, बिहार के शिक्षकों को सम्मानित किया गया।
कार्यक्रम के द्वितीय सत्र में सांस्कृतिक प्रस्तुतियों में छोलिया नृत्य तथा विभिन्न शिक्षकों के द्वारा अपनी अपनी सांस्कृतिक प्रस्तुतियां दी जिसमें महाराष्ट्र का लोक गीत प्रभु दत के द्वारा, शगुन आखर सरोज डिमरी के द्वारा गढ़वाली लोक नृत्य मनीषा पटेल के द्वारा गरबा नृत्य प्रस्तुत किया गया।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी - उत्तराखंड से चलने वाली ये रेलगाड़िया निरस्त


द्वितीय सत्र में हिमाचल प्रदेश, जम्मू कश्मीर, कर्नाटक के शिक्षकों को अतिथियों के द्वारा सम्मानित किया गया। इस अवसर पर कार्यक्रम संयोजक डी न भट्ट के द्वारा सभी का धन्यवाद किया गया।

डा.डी.एन.भट्टजी द्वारा छोलिया नृत्य पुरावृत तथ्य पर विस्तृत प्रकाश डाला गया।
महाराष्ट्र के लोक गीत में श्री प्रभू दत्त जी द्वारा गणेश स्तुति से आरंभ कर विभिन्न देवी देवताओं की स्तुति प्रस्तुत की गई
श्री प्रभू दयाल जी के साथ तबले में सूंदर संगत को श्री पवन जोशी जी ने
कुमाउनी.संस्कृती में देवी थुरा मेले बग्वाल में दुर्गा देवी की कि जाने वाली स्तुती प्रस्तुत दी
बबिता थपलियाल नैठानी द्वारा हुड़का संगत हरीश चंद पांडे के साथ छपेली न्योली,झोडां विधाओं में गीत प्रस्तुती दी

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी -(बड़ी खबर) शहर के 13 चौराहे चौड़ीकरण को लेकर DM ने दिए अहम निर्देश

इसी क्रम में श्रीमती हेमा हरबोला की टीम द्वारा लक्ष्मण परशुराम संवाद की प्रस्तुति दी गई
द्वितीय सत्र के अंत में कार्यक्रम मुख्य अतिथि श्री सुमित हृदेश जी तथा कार्यक्रम अध्यक्ष श्री मनोज तिवारी जी ने अपने व्यक्तव्य में शिक्षा तथा संस्कृति को बढ़ावा देने वाले इस महाउत्सव को भारत की लोक संस्कृति को मजबूती प्रदान करने वाला महान कार्य बताया।


तथा आयोजक मंडल के सभी सदस्यों को उनके इस उच्च उद्देशीय कार्यक्रम के आयोजन की सफलता हेतु शुभकामनाएं वो बधाइयां दी।द्वितीय सत्र के अंत में विभिन्न राज्यों से आते शिक्षकों को स्मृति चिन्ह प्रदान कर सम्मानित किया गया जिसमें हरियाणा,हिमाचल, जम्मू-कश्मीर, कर्नाटक,केरल, मध्यप्रदेश, राज्य शामिल थे। तृतीय सत्र के मुख्य अतिथि भा0ज0पा0 जनपद नैनीताल के पूर्व जिला अध्यक्ष प्रदीप बिष्ट रहे । अंतिम सत्र में उत्सव ग्रुप देहरादून की नाट्य प्रस्तुति नंदा की कथा का मंचन किया गया।


कार्यक्रम मे मुख्य रूप से शैल नट के संस्थापक श्रीश डोबाल ,डा0 डी0 एन0 भटट, राजीव शर्मा, डॉ0 विवेक पांडेय, डॉ0कन्नू जोशी , रोहितास गंगवार, ललित कर्नाटक, गिरीश काण्डपाल,पुष्पेश सांगा, त्रिलोक बृजवासी, डॉ0 हरीश जोशी, पंकज लोहनी, अशोक बहुखंडी, मुकेश बहुगुणा, पवन जोशी, मोहन जोशी, गौरीशंकर काण्डपाल, डिम्पल जोशी,
कार्यक्रम का संचालन हेमंत बिष्ट एवम नीरज नैथानी द्वारा किया गया।

अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

Subscribe
Notify of

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments