हल्द्वानी हिंसा का इन परीक्षाओं पर पड़ा सीधा असर

खबर शेयर करें -

हल्द्वानी – बनभूलपुरा में सरकारी भूमि पर पहले अतिक्रमण किया, फिर अवैध तरीके से मदरसा भी बनाया और जब प्रशासन व पुलिस टीम कानूनी प्रक्रिया के तहत निर्माण ध्वस्त करने पहुंची तो हल्द्वानी के शांतिपूर्ण माहौल को सैकड़ों उपद्रवियों ने आग में झोंक दिया। अवैध मदरसे के लिए बवाल कर पुलिस, नगर निगम व मीडिया कर्मियों की जान लेने पर उतारू दिखे अराजकतत्वों को स्कूल और कालेजों में अध्ययनरत दूसरों के तो छोड़िये खुद के बच्चों की तक चिंता नहीं थी। इन उपद्रवियों ने पूरे जिले को अशांत किया और विद्यार्थियों के भविष्य को दांव पर लगा दिया।

दरअसल, कुमाऊं विश्वविद्यालय और उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय की परीक्षाएं चल रही हैं। साथ ही विद्यार्थियों के हित में उच्च शिक्षा संस्थान सत्र नियमित करने की योजना से परीक्षाएं संचालित कर रहा था, ताकि स्नातकोत्तर के बाद विद्यार्थियों को अन्य संस्थानों में प्रवेश लेने में समस्या न आए। दोनों विश्वविद्यालयों के नैनीताल जिले में 15 हजार से अधिक छात्र-छात्राएं पंजीकृत हैं, मगर आठ फरवरी की शाम बनभूलपुरा को उपद्रवियों ने आग में झुलसा दिया। तनाव को देखते हुए कुमाऊं विवि ने नैनीताल के साथ ही ऊधम सिंह नगर जिले के सभी कालेजों में संचालित सभी परीक्षाओं को स्थगित कर दिया, जबकि यूओयू प्रशासन ने हल्द्वानी, हल्दूचौड़ और रामनगर केंद्र में 10 फरवरी तक की परीक्षाएं स्थगित कर दीं। ऐसे में विवि | की व्यवस्थाएं प्रभावित हुई हैं।

  • कुमाऊं व मुक्त विश्वविद्यालयों की परीक्षाएं करनी पड़ गईं स्थगित
यह भी पढ़ें 👉  Breaking News- भाजपा ने लोकसभा चुनाव के प्रदेश चुनाव प्रबंधन समिति की घोषणा की
यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड - हल्द्वानी निवासी युक्ति पाण्डे को नेट JRF परीक्षा में सफलता, देशभर में 168वीं रैंक

बोर्ड परीक्षा की तैयारी में जुटे छात्र छात्राओं की पढ़ाई भी प्रभावित

ये परीक्षाएं प्रभावित

कुमाऊं विवि : स्नातकोत्तर की सभी परीक्षाएं स्थगित, कौशल विकास परीक्षा पर असर

यूओयू : एमबीपीजी, हल्दूचौड़ और रामनगर कालेज में दो परीक्षा स्थगित

प्रैक्टिकल कालेजों में प्रयोगात्मक कार्य और परीक्षाएं नहीं हो रही हैं

गृह परीक्षा : स्कूलों में होने वाली गृह परीक्षाएं प्रभावित हो गई हैं

सीबीएसई, उत्तराखंड बोर्ड के भी बच्चे प्रभावित

सीबीएसई की परीक्षाएं 15 जबकि उत्तराखंड बोर्ड की 27 फरवरी से होनी है। 10वीं तथा 12वीं के बच्चों के लिए परीक्षा की अंतिम घड़ी अहम होती है। विद्यार्थी वर्ष भर की गई पढ़ाई रिवाइज कर रहे हैं, मगर वनभूलपुरा बवाल के बाद बच्चों की पढ़ाई प्रभावित हुई है। इंटरनेट ठप होने से भी अध्ययन पर असर है। प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे युवा परेशान : प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे युवा काफी संख्या में कालेजों और नगर के प्राइवेट पुस्तकालयों में अध्ययन के लिए जाते हैं। इंटरनेट से भी पढ़ाई करते हैं, उपद्रवियों के कारण तैयारी सही से नहीं कर पा रहे हैं।

अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

Subscribe
Notify of

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments