Shemford School Haldwani
अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा

हल्द्वानी- (बड़ी खबर) मंगल ग्रह पर जीवन की संभावनाओं को तलाशने गए नासा के अंतरिक्ष यान में हल्द्वानी की इन दो छात्राओं के नाम भी शामिल

Bansal Sarees & Bansal Jewellers Ad
Advertisement
खबर शेयर करें
  • 1.5K
    Shares

हल्द्वानी- मंगल ग्रह पर जीवन की संभावनाओं को तलाशने के लिए अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा द्वारा भेजे अंतरिक्ष यान में हल्द्वानी की दो छात्राओं शिवानी मिश्र व हिमानी मिश्र के नाम भी शामिल हैं। बीते शुक्रवार को नासा का यह अंतरिक्ष यान मंगल पर सकुशल पहुँच गया। अंतरिक्ष में रुचि रखने वाले लोगों से नासा ने 30 सितंबर 2019 तक नाम माँगे थे जिन लोगों ने अपने नाम भेजे, उन्हें आनलाइन बोर्डिंग पास दिए गए। सभी नामों को एक सिलिकॉन वेफर माइक्रोचिप पर एक इलेक्ट्रॉनिक बीम की मदद से उकेरा गया है। यह चिप हमेशा के लिए मंगल (Mars) पर रहेगी। नासा का मंगल मिशन जुलाई 2020 में लांच किया गया था।

यह भी पढ़े 👉उत्तराखंड- राज्य के 12 हजार गांव ऐसे होंगे डिजिटल, भारत नेट-2 प्रोजेक्ट को मिली हरी झंडी, जानिए खास बातें

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी- करोड़पति बनाने का ख्वाब दिखा कर दिया कंगाल, ठगों के भी क्या अजब गजब तरीके

कैलीफोर्निया स्थित नासा के जेट प्रोपल्शन लैबोरेटरी के ब्रूस बैनर्ड ने कहा कि मंगल अंतरिक्ष में रुचि रखने वाले सभी आयु के लोगों को रोमांचित करता है। यह मौका उन्हें उस अंतरिक्ष यान का हिस्सा बनने का मौका देगा जो मंगल ग्रह के बारे में अध्ययन करेगा।
शिवानी मिश्र एमबीपीजी से भौतिक विज्ञान में शोध कर रही हैं तथा हिमानी मिश्र महिला महाविद्यालय से भौतिक विज्ञान में एमएससी कर रही हैं।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- सुबह-सुबह यहां कार गिरी नदी में, चालक लापता, ढूंढ खोज जारी

नासा के मंगल मिशन का उद्देश्य कई सवालों के जवाब खोजना है। मंगल ग्रह पर जीवन की कितनी संभावनाएं हैं? या क्या मंगल पर कभी जीवन था? नासा का रोवर मंगल पर खुदाई करके वहां की मिट्टी के सैंपल भी इकट्ठा करेगा। रोवर ये सैंपल वहीं छोड़ देगा और भविष्य में जाने वाला एयरक्राफ्ट इस सैंपल को धरती पर लेकर आएगा।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी- (बड़ी खबर) इस मंडल के अध्यक्ष, महामंत्री और कोषाध्यक्ष ने जिला अध्यक्ष को दिया इस्तीफा

यह भी पढ़े 👉उत्तराखंड- पहाड़ की बेटी ने यूरोप में किया कमाल, अपने मुक्के से चित कर दिए विरोधी, जीता मेडल

साइंस सिस्टर्स शिवानी, हिमानी को विश्वास है कि भारत की अंतरिक्ष एजेंसी इसरो जल्द ही मानवयुक्त यान मंगल पर भेजने में कामयाब होगी। दुनिया हमें ज्ञान गुरु के रूप में तो जानती ही है, परन्तु अब हम भारतीयों को विज्ञान गुरु बनने की जरूरत है।

यह भी पढ़े 👉नैनीताल के रामगढ़ में 25 ग्रेट बार्बेट पक्षी मृत मिलने से सनसनी

अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments