हल्द्वानी-(बड़ी खबर) लैंड फ्रॉड से ठगे गए पीड़ितों के लिए उम्मीद की किरण बन रहे कमिश्नर दीपक रावत

खबर शेयर करें -

हल्द्वानी –आयुक्त दीपक रावत की अध्यक्षता में शनिवार को कैम्प कार्यालय हल्द्वानी में जनसुुनवाई आयोजित हुई। आयुक्त श्री रावत ने आम जनमानस की समस्याआंे एवं शिकायतों का संज्ञान गंभीरता से लिया जिसमें विभिन्न लोगो ने पेयजल, सडक, विद्युत, पेंशन, अतिक्रमण,विद्युत, के साथ ही अधिकांश शिकायतें भूमि विवाद सम्बन्धित आयी


आयुक्त ने जनसुुनवाई के दौरान अधिकतर समस्याआंे एवं शिकायतों को निस्तारित करते हुए शेष समस्याओं व शिकायतों को दूरभाष के माध्यम से सम्बन्धित अधिकारिंयांे को प्राथमिकता के आधार पर शीघ्र समाधान एवं निस्तारित करने के निर्देश दिए।
आयुक्त ने कहा कि जोन स्टेट के कुछ क्षेत्र हैं जहां पर नक्शे पास नही है लेकिन जेसीबी के द्वारा खुदाई चलने पर मौके से जेसीबी को जब्त कर स्पष्टीकरण मांगा गया है। उन्होंने कहा कि अवैध मिटटी का कामर्शियल इस्तेमाल किया गया है तो अवैध खनन में सम्बन्धित के चालान करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने सभी सम्बन्धित विभागों को निर्देश दिये है कि अवैध खनन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाए।
आयुक्त दीपक रावत ने पुनः भूमि क्रेताओं से कहा कि भूमि क्रय करने से पूर्व भूमि की जांच तहसीलदार, राजस्व निरीक्षक से अवश्य करा लें ताकि भविष्य की धोखाधडी से बचा जा सके। उन्होंने कहा कि निजी अमीनों का लाईसेंस निरस्त कर दिया गया है निजी अमीनों से भूमि की पैमाइश ना करायेें जिससे लैंड फ्राड से बचा जा सके। भूमि की नापजोख विभागीय राजस्व निरीक्षक से ही करायें।


जनसुनवाई में देवकी अधिकारी निवासी द्वाराहाट अल्मोडा ने बताया कि उन्होंने सतविन्दर सिंह से ग्राम जयनगर तहसील रूद्रपुर में 1800 वर्ग फीट भूमि 12 लाख रूपये में क्रय की थी तथा धनराशि खाते में जमा की गई थी। उन्होने कहा कि विक्रेता न तो 12 लाख रूपये वापस कर रहा है ना ही भूमि पर कब्जा दे रहा है। उन्हांेने आयुक्त से 12 लाख की धनराशि वापस दिलाने की मांग की। आयुक्त ने विक्रेता सतविन्दर को जनसुनवाई में निर्देश दिये कि एक सप्ताह के भीतर देवकी अधिकारी को धनराशि वापस की जाए। उन्होंने अगले शनिवार को जनसुनवाई में विक्रेता सतविन्दर को तलब किया। गंुजन सगडा बिठौरिया नम्बर-1 हल्द्वानी ने बताया कि उनके द्वारा राजदीप सिह नयांगांव कालाढूगी में 7 बीघा जमीन क्रय की गई थी इकरारनामे के आधार पर 40 लाख की धनराशि उनके खाते में जमा की गई बकाया धनराशि बैनामे पर देनी थी लेकिन राजदीप द्वारा ना तो बैनामा किया जा रहा है और ना ही धनराशि वापस की जा रही है। आयुक्त ने उपजिलाधिकारी को जांच कर आख्या प्रस्तुत करने के निर्देश दिये साथ ही अगले जनसुनवाई में क्रेता एवं विक्रेता दोनो को बुलवाने के निर्देश दिये।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी - (बड़ी खबर) प्राधिकरण के नाम पर हो रहा खेल
अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

Subscribe
Notify of

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments